सेवादल का इतिहास आजादी के समय का है : एसएन सुब्बाराव

Verified Apps to watch T20 World Cup 2022 Live Stream

अजमेर। गांधीवादी नेता एवं विचारक डॉ. एसएन सुब्बाराव ने कहा कि सेवादल का इतिहास आजादी के समय का है और आज 95 वर्ष बाद भी इसकी भूमिका महत्वपूर्ण है।

डॉ सुब्बाराव आज यहां राजस्थान सेवादल के दो दिवसीय राष्ट्रीय महाअधिवेशन का शुभारंभ कर रहे थे। उन्होंने गांधी के देश में भ्रष्टाचार, बेईमानी, जातिवाद जैसे अवगुणों के हावी होने पर भी चिंता जताई।

कार्यक्रम में सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी देसाई, प्रदेश संगठक प्रमुख एवं विधायक राकेश पारीख, अजमेर संगठक प्रमुख देशराज मेहरा के साथ कांग्रेस के सैकड़ों पदाधिकारी, ब्लॉक अध्यक्ष, विभागों एवं प्रकोष्ठों के अध्यक्षों के साथ साथ बड़ी संख्या में विभिन्न प्रांतों से आए सेवादल कार्यकर्ता मौजूद रहे।

महाअधिवेशन के दूसरे दिन गुरुवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उपमुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे, सहसचिव विवेक बंसल, राज्य के चिकित्सा, सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री डॉ. रघु शर्मा सहित अन्य राष्ट्रीय नेता, प्रदेश के विधायक एवं जनप्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे।

लोकसभा चुनाव को देखते हुए अधिवेशन के दौरान नए भारत की सोच, स्वावलंबन से स्वाभिमान, संविधान से स्वराज्य, महिला अत्याचार, किसानों की दुर्दशा, शिक्षा, स्वास्थ्य वह बेरोजगारी पर गहन चिंतन मनन के बाद एक घोषणापत्र भी तैयार किया जा रहा जिसे राहुल गांधी जारी करेंगे।

गौरतलब है कि सेवादल का यह राष्ट्रीय महाअधिवेशन तीस वर्ष बाद हो रहा है। इससे पहले 1989 में इस तरह का महाअधिवेशन हुआ था। महाअधिवेशन का मूल मकसद सेवादल के कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित कर लोकसभा चुनाव में बूथ स्तर तक उनकी सेवाओं को लिया जाना है ताकि देश के लक्ष्य के साथ साथ राजस्थान के मिशन 25 का भी लक्ष्य पूरा कराया जा सके।

ध्यान रहे कि सेवादल कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिए जाने का कार्य पिछले पांच दिनों से यहां चल रहा है और अधिवेशन स्थल पर पूरे देश के करीब पंद्रह हजार से ज्यादा कार्यकर्ता मौजूद है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की सेवादल के राष्ट्रीय अधिवेशन में शिरकत