कांग्रेस देश को 20वीं सदी की ओर धकेल रही है: मोदी

नैनीताल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कांग्रेस पर जमकर हमला बोला और कहा कि हम देश को जितनी ताकत से इक्कीसवीं सदी की ओर आगे बढ़ाना चाहते हैं, वहीं कांग्रेस देश को बीसवीं सदी की ओर धकेलना चाहती है।

मोदी ने कांग्रेस पर तुष्टीकरण का आरोप भी लगाया और कहा कि हम सभी वर्ग व संप्रदाय के लिये आधुनिक डिजिटल विश्वविद्यालय की बात कर रहे हैं वहीं कांग्रेस आज भी तुष्टीकरण की राजनीति से बाज नहीं आ रही है और प्रदेश में मुस्लिम विश्वविद्यालय खोलने की बात कर रही है।

मोदी उत्तराखंड की नैनीताल-उधमसिंह नगर लोकसभा सीट की जनता से वर्चुअल माध्यम से संवाद कर रहे थे। उन्होंने इस दौरान 14 विधानसभाओं की जनता से आभासी संवाद किया। उनके इस संबोधन को 56 जगहों में एलईडी के माध्यम से दिखाया गया।

उन्होंने इस मौके पर कहा कि कांग्रेस की नीति और निष्ठा साफ नहीं है। इसका अंदाजा इनके चुनाव अभियान से लगाया जा सकता है। कांग्रेस पार्टी का दिल्ली में दशकों तक राज रहा लेकिन उनको कभी भी उत्तराखंड के पवित्र बदरीनाथ,-केदारनाथ व गंगोत्री-यमुनोत्री धामों के विकास की याद नहीं आई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज डबल इंजन की सरकार चारधाम को दिव्य व भव्य बनाने में लगी है। चारधाम को जोड़ने के लिए आल वेदर सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा,“कांग्रेस को सिर्फ चार काम आते हैं। पहला अपने परिवार का हित, दूसरा भ्रष्टाचार, तीसरा तुष्टीकरण व योजनाओं में भेदभाव और चौथा काम है योजनाओं को हर हाल में लटकायेे रखना।

उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस की यूपीए की सरकार में दस साल में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत मात्र 3800 किमी ग्रामीण सड़कों का निर्माण किया गया जबकि उनके पांच साल के कार्यकाल में 13,500 किमी सड़कों का निर्माण हुआ। इसी प्रकार कांग्रेस सरकार की ओर से ऋषिकेष-कर्णप्रयाग रेल लाइन के साथ भी सौतेला व्यवहार किया गया और इस रेल लाइन के लिये सिर्फ चार करोड़ रुपए दिए गए। आज डबल इंजन की सरकार रेल परियोजना पर करोड़ों रुपये खर्च कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने कभी भी उत्तराखंड की जनता की भावनाओं का सम्मान नहीं किया। उत्तराखंड की संजीदगी को नहीं समझा।

उन्होंने यह भी कहा कि हाल ही में पेश बजट में केन्द्र सरकार की ओर से उत्तराखंड के ढांचागत विकास के लिये और भी प्रावधान किये गये है। पर्वतमाला परियोजना के तहत उत्तराखंड की सड़कों का आधुनिक तरीके से विकास हो सकेगा। यहां के तीर्थों, मंदिरों और पर्यटक स्थलों को रोपवे से जोड़ा जायेगा जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार के साथ ही सुविधा मिल सकेगी। यही नहीं बजट में प्राकृतिक खेती के लिए भी बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। गंगा नदी के दोनों किनारों पर पांच किमी तक आर्गेनिक खेती की जा सकेगी और इसका लाभ उत्तराखंड के किसानों को भी विशेष रूप से मिलेगा।

उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस आज भी तुष्टीकरण की राजनीति से बाज नहीं आ रही है। हम जहां देश में सभी लोगों के लिए डिजिटल विवि खोलने की बात कर रहे हैं वहीं कांग्रेसी नेता आज भी उत्तराखंड में मुस्लिम विवि खोलने की बात चुनावी अभियान के दौरान कर रही है।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार लगातार प्रदेश में मेडिकल के ढांचे का विकास करने में जुटी है। प्रदेश में जहां एक ओर मेडिकल कालेज खोले जा रहे हैं वहीं कुमाऊं में भी ऋषिकेश स्थिति अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की शाखा खोलने को स्वीकृत दे दी गई है। इससे क्षेत्र के गरीब, वंचित, पिछड़ों को लाभ मिल सकेगा। डिजिटल विवि से युवाओं को कई डिग्रियां मिल सकेंगी।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की जनता से कहा कि देवभूमि वो तपोभूमि है जहां पूरी दुनिया सिद्धि के लिये आती है। जब अच्छे संकल्प से कोई यज्ञ होता है तो कुछ छलावे व विघ्न करने वाली शक्तियां भी आती हैं और विघ्न डालने की फिराक में रहती है। इसलिए इनके मंसूबों को सफल नहीं होना देना है। हमें उत्तराखंड के विकास के इस यज्ञ को सिद्धि तक ले जाना है। उन्होंने यह भी कहा कि ये चुनाव इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने में अहम भूमिका निभायेगा और इसलिये 14 फरवरी को भारी संख्या में मतदान करें।