कांग्रेस ने मोहाली नगर निगम पर भी किया कब्जा

चंडीगढ़। पंजाब के मोहाली नगर निगम के आज घोषित नतीजों में कुल पचास सीटों में से 37 पर कांग्रेस ने जीत हासिल कीं। चुनाव में आम आदमी पार्टी,शिरोमणि अकाली दल और भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार खाता तक नहीं खोल सके। शिअद से अलग हुए पूर्व मेयर कुलवंत सिंह के आजाद गुट ने नौ सीटें हासिल कीं और चार अन्य निर्दलीयों की झोली में गईं।

राज्य की आठ नगर निगम की तरक्की को देखते हुए सकारात्मक सोच के साथ कांग्रेस पार्टी पर भरोसा जताया है और बड़ी संख्या में पंजाब के स्थानीय निकाय चुनावों में पार्टी के उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है। यह जानकारी आज स्वास्थ्य एवं श्रम मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने नगर निगम मोहाली के मतदान में मिली बड़ी जीत के बाद दी।

सिद्धू ने बताया कि मोहाली नगर निगम चुनावों में 50 सीटों में से 37 सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि आम आदमी पार्टी, अकाली दल और भाजपा को नकार दिया और ये पार्टियां खाता तक नहीं खोल सकीं।

पंजाब में आए नतीजों ने साबित कर दिया है कि वोटरों ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार के व्यापक विकास कार्यों को देखते हुए नगर निगम और नगर परिषद और नगर पंचायतों की चुनावों में कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों में विश्वास जताया है।

मोहाली के वोटरों का धन्यवाद करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार ने मोहाली शहर के विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है और विशेष तौर पर कोरोना महामारी के समय लगे लॉकडाउन के दौरान भी शहरी सुविधाओं और स्वास्थ्य सेवाओं को लोगों तक पहुंचाया है, जिसके लिए हमारी पार्टी को विशाल जन समर्थन मिला है।

उन्होंने विश्वास दिलाते हुए कहा कि आगे भी मोहाली शहर के विकास कार्यों को जारी रखा जाएगा। कांग्रेस पार्टी अगले साल होने वाली विधान सभा चुनावों में भी बड़ी जीत हासिल करेगी।उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों के विरुद्ध किसानों की मांगों पर केंद्र सरकार गंभीरता से नहीं विचार रही और अकाली दल पार्टी ने भी लंबे समय तक इन कानूनों का समर्थन किया, जिसके लिए पंजाब के लोगों ने इन पार्टियों का पूरी तरह सफाया कर दिया है।