अनुच्छेद 370 हटाना संविधान की अवमानना : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सरकार ने जम्मू कश्मीर में लागू अनुच्छेद 370 को असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक तरीके से हटाया है और राज्य के अधिकार में हस्तक्षेप किया है।

कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारक संस्था कार्य समिति की मंगलवार देर रात अचानक बुलाई गई बैठक में पार्टी ने एक स्वर ने सरकार के इस कदम की अलोचना की और कहा कि उसने जिस तरीके से ये काम किया है वह संविधान की व्यवस्था के खिलाफ, राज्यों के अधिकारों का हनन, संसदीय प्रक्रिया तथा लोकतंत्रिक व्यवस्था के विरुद्ध है।

पार्टी ने कहा है कि जम्मू कश्मीर के हित के लिए 370 पंडित जवाहर लाल नेहरू, सरदार वल्लभ भाई पटेल तथा डॉ बीआर अंबेडकर ने की थी और इस काम में उनका सहयोग एन गोपालस्वामी और श्री पटेल ने किया था। इस व्यवस्था का सैम्सन किया जाना चाहिए था और इसको हटाने से पहले इस बारे में संबद्ध पक्षों से बात होनी चाहिए थी।

कांग्रेस ने कहा कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। कार्य समिति ने कहा है कि जम्मू कश्मीर हमारा आंतरिक मामला है और इसको लेकर कोई बाहरी हस्तक्षेप बर्दास्त नहीं किया जाया जाएगा। कार्य समिति ने कहा है कि पार्टी जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लोगों के साथ है और भारतीय जनता पार्टी तथा उसकी विभाजक नीतियों के विरुद्ध लड़ती रहेगी।