जीवाराम की नियुक्ति का विरोध, पायलट और बंसल से मिला विरोधी खेमा

sirohi congress, sachin pilot
sirohi congress person met sachin pilot to challange nomination of jivaram ary

सबगुरु न्यूज-सिरोही। जिला मुख्यालय पर नव नियुक्त जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य के स्वागत समारोह के दौरान एक गुट जयपुर में गुरुवार को उनकी नियुक्ति को चुनौती देने के लिए गुरुवार को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट व विवके बंसल से मिला। इन दोनों नेताओं ने इस मामले में फाॅलो-अप देने का आश्वासन दिया है।

जीवाराम आर्य जिले में कुमावत समाज के नेता हैं। कांग्रेस के कद्दावर नेता संयम लोढा के करीबियों में से एक हैं। वर्तमान में शिवगंज के प्रधान व शिवगंज ब्लाॅक अध्यक्ष भी हैं। छह महीने पहले प्रदेश में जिलाध्यक्षों की नियुक्ति के समय जिन जिलों में विवादों के चलते जिलाध्यक्षों की नियुक्ति नहीं की गई थी, उनमें सिरोही भी शामिल था।

जीवाराम आर्य को जिलाध्यक्ष बनते ही यह विरोध शुरू हो गया। लोढा विरोधी खेमे ने जीवाराम आर्य की नियुक्ति को यह कहते हुए चुनौती की है कि अप्रेल 2016 को डाक बंगले कांड के बाद निलंबित किया गया था। इसी तरह 2009 में कांग्रेस की लोकसभा प्रत्याशी संध्या चैधरी के खिलाफ कार्य करने पर उन्हें निष्कासित किया गया था।

इसी दलील के साथ यह लोग पूर्व में अशोक गहलोत से मिले थे। जीवाराम आर्य के गुरुवार को कार्यभार ग्रहण और स्वागत समारोह के दौरान यही लोग जयपुर में प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट व विवके बंसल से भी मिले। इन लोगों ने जीवाराम आर्य के सदर्भ में उक्त बातें लिखित में प्रदेशाध्यक्ष व विवके बंसल को दी। दोनों ने इस मामले का फाॅलो-अप देने का आश्वासन दिया।

इस प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश कांग्रेस सचिव गुमानसिंह देवडा, जिला परिषद सदस्य कुलदीपसिंह, सिरोही नगर परिषद की पूर्व सभापति जयश्री राठौड, जिला महासचिव हरीश परिहार, पूर्व जिला प्रमुख अनाराम बोराणा, जिला उपाध्यक्ष हीरालाल अग्रवाल, पिण्डवाडा के पूर्व पालिकाध्यक्ष अचलसिंह बालिया, मोहनलाल सीरवी, पूर्व जिला प्रमुख चंदनसिंह देवडा आदि शामिल थे।