निशानेबाजी को राष्ट्रमंडल खेलों से हटाना, भारत को पदकों से वंचित करने का षड़यंत्र

निशानेबाजी को राष्ट्रमंडल खेलों से हटाना, भारत को पदकों से वंचित करने का षड़यंत्र
निशानेबाजी को राष्ट्रमंडल खेलों से हटाना, भारत को पदकों से वंचित करने का षड़यंत्र

नयी दिल्ली । अखिल भारतीय खेल परिषद के अध्यक्ष प्रो विजय कुमार मल्होत्रा ने निशानेबाजी को राष्ट्रमंडल खेलों से बाहर किये जाने को भारत को पदकों से वंचित करने का षड़यंत्र बताते हुए खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर और भारतीय ओलम्पिक संघ से इस मामले को गंभीरता से लेने की अपील की है।

प्रो मल्होत्रा ने राठौर और आईओए के अध्यक्ष नरेंद्र ध्रुव बत्रा से निशानेबाजी को 2022 राष्ट्रमंडल खेलों से हटाने के मुद्दे को सभी मंचों पर उठाने की अपील है। उन्होंने एक पत्र में कहा तीरंदाजी ने 2010 दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों में सर्वाधिक पदक जीते थे लेकिन तीरंदाजी को 2014 खेलों से हटा दिया गया। अब भारत निशानेबाजी में सबसे ज्यादा पदक जीत रहा है तो इसे 2022 के खेलों से हटा दिया गया।

उन्होंने कहा भारत अब बैडमिंटन मुक्केबाजी कुश्ती और भारोत्तोलन में एक ताकत के रूप में उभर रहा है तो इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि इनमें से किसी खेल को 2026 के खेलों से हटा दिया जाए।