चूरु में श्रम विभाग का अनुबंधित चालक रिश्वत लेते अरेस्ट

चूरू। राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने चूरु में आज श्रम विभाग में अनुबंधित वाहन चालक को एक लाख रुपए का चेक बतौर रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

चूरू में एसीबी चौकी के प्रभारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आनंदप्रकाश स्वामी ने बताया कि परिवादी मुकेश सैनी ने ब्यूरो की चूरु चौकी में शिकायत की कि उसके भाई सांवरमल बिजली का काम करता था। पिछले वर्ष 14 जून को उसकी करंट लगने से मौत हो गई।

सैनी ने बताया कि सरकार से नियमानुसार मिलने वाले पांच लाख रुपए के मुआवजे के लिए उसने श्रम विभाग चुरु में उपप्रबंधक विक्रम सिंह को आवेदन किया तो विभाग में अनुबंधित वाहन चालक मोहम्मद आरिफ कायमखानी ने मुआवजा दिलाने की एवज में उससे एक लाख रुपए की रिश्वत मांगी और न देने पर करीब 11 महीने से उसका यह मामला लटकाए रखा।

उन्होंने बताया कि शिकायत का सत्यापन कराने के बाद ब्यूरो के दल ने दोपहर में बाजार में परिवादी मुकेश सैनी से एक लाख का चेक लेते हुए मोहम्मद आरिफ कायमखानी को गिरफ्तार कर लिया।

स्वामी ने बताया कि इस मामले में उप प्रबंधक विक्रम सिंह शक के दायरे में आ गए हैं। फिलहाल मोहम्मद आरिफ से पूछताछ की जा रही है कि उसने किस अधिकारी के नाम पर रिश्वत का चेक परिवादी से लिया। मोहम्मद आरिफ को कल अदालत में पेश किया जाएगा।