कोविड टीके ‘कोर्बेवैक्स’ को बूस्टर डोज के रूप में मंजूरी

नई दिल्ली। पूरी तरह से स्वदेश में निर्मित कोविड टीके ‘कोर्बेवैक्स’ को कोविड-19 के तीसरे टीके-अतिरिक्त टीके के रूप में वयस्कों को लगाने की मंजूरी दे दी गई है।

कोर्बेवैक्स की निर्माता कंपनी बायोलॉजिकल ई लिमिटेड ने शनिवार को यहां जारी एक बयान में कहा कि भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने कोर्बेवैक्स को कोवैक्सीन और कोविशील्ड’ टीके के तीसरी टीके – बूस्टर डोज के रूप में लगाने की अनुमति दे दी है। कोर्बेवैक्स कोविड टीका 18 वर्ष और इससे अधिक आयु के व्यक्ति को तीसरे टीके के रूप में दिया जा सकता है। यह टीका दूसरा टीका लेने के छह महीने बाद लिया जा सकता है।

कंपनी ने प्रबंध निदेशक महिमा डाटला ने कहा कि कोर्बेवैक्स टीका विश्व मानकों पर तैयार किया गया है और सुरक्षा के सभी मानकों को पूरा करता है। उन्होंने कहा कि तीसरे टीके के रूप में कोर्बेवैक्स टीके का परीक्षण 18 से 80 साल के आयु वर्ग में किया गया है।