अजमेर संभाग में कोरोना के 1488 नए मामले, 4 की मौत

अजमेर। राजस्थान के अजमेर संभाग के चारों जिलों में आज 1488 कोरोना के नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं जबकि अलग अलग जिलों में चार संक्रमितों की मृत्यु दर्ज की गई है।

संभाग के अजमेर शहर में सबसे ज्यादा 640 नए संक्रमित सामने आए हैं जबकि दो की मृत्यु हुई है। भीलवाड़ा मे 605 संक्रमित सामने आए हैं और यहां एक की मृत्यु हुई है। नागौर में 121 मरीज सामने आए हैं यहां भी एक की मृत्यु हुई है तथा टोंक में 123 नए संक्रमित मरीज रिकॉर्ड में दर्ज किए गए हैं। यहां एक भी मृत्यु नहीं हुई है।

सूत्रों ने बताया कि अजमेर शहर में लगातार तीसरे दिन 600 से ज्यादा मरीज के आंकड़ों के चलते चिकित्सा विभाग सहित जिला व पुलिस प्रशासन में बेचैनी है।

जिला पुलिस की ओर से आज जन अनुशासन पखवाड़े में कोविड नियमों की पालना के लिए जन जागरूकता हेतु पुलिस लाइन से एक वाहन फ्लैग मार्च का आयोजन किया गया जिसमें नो मास्क नो मूवमेंट के प्रति जागरूक किया गया। पखवाड़ा आगामी तीन मई तक चलेगा।

ऑक्सीजन बचाव के लिए नई पहल

अजमेर जिला प्रशासन ने कोरोना संकट को देखते हुए ऑक्सीजन बचाव के लिए एक नई पहल की है। कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने बताया कि अब जिला प्रशासन 24 घंटे अजमेर में जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय की मॉनिटरिंग करेगा और ऑक्सीजन की आवश्यकतानुसार उपयोग और व्यर्थ जा रही ऑक्सीजन को बचाने की कवायद करेगा।

इसके लिए अस्पताल की तीनों मंजिलों पर एक एक आरएएस अधिकारी को ड्यूटी पर लगाया गया है और उनके सहयोग के लिए 80 राजस्व कर्मियों की भी नियुक्ति की गई है जो मरीजों और उनके परिजनों को ऑक्सीजन बचाने के लिए प्रेरित करेंगे और ऑक्सीजन की उपलब्धता पर मॉनिटरिंग करेंगे ताकि जरुरतमंद मरीजों को पर्याप्त ऑक्सीजन मिल सके।अस्पताल अधीक्षक डॉ. अनिल जैन ने स्वीकार किया कि मरीज के हाथों ऑक्सीजन का गलत इस्तेमाल हो रहा है।

अजमेर में चिकित्सा मंत्री हैल्पडेस्क स्थापित

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा के निर्देश पर अजमेर जिले में कोरोना महामारी संक्रमण के नियंत्रण, रोकथाम, बचाव एवं आमजन को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए चिकित्सा मंत्री हैल्पडेस्क स्थापित की गई है। यह डेस्क 24 घंटे कार्यरत रहेगी। हैल्पलाइन का फोन नम्बर 0145-2940560 तथा 0145-2631111 है। आमजन इन नम्बरों पर फोन कर अजमेर जिले में कोरोना महामारी से संबंधित जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केके सोनी ने बताया कि अजमेर जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए आमजन को महामारी से बचाव, नियंत्रण, रोकथाम व चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए स्वास्थ्य संकुल भवन अजमेर पर इस हैल्पडेस्क की स्थापना की गई है। चिकित्सा मंत्री हैल्पडेस्क के लिए अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सम्पत सिंह जोधा को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

हैल्पडेस्क को निर्देशित किया गया है कि वे हैल्पलाइन नम्बर 0145-2940560 तथा 0145-2631111 पर आने वाली सभी तरह की शिकायतों व पूछताछ के बारे में आमजन को जानकारी देंगे व राहत प्रदान करने में सहायता प्रदान करेंगे। इन हैल्पलाइन नम्बरों पर ऑक्सीजन की उपलब्धता, बेड की उपलब्धता, दवाईयों की उपलब्धता, एम्बूलेंस सहित कोरोना महामारी से संबंधित अन्य जानकारियां प्राप्त की जा सकती है। यह हैल्पडेस्क रविवार 25 अप्रैल से लगातार 24 घंटे कार्यरत रहेगी।

इन्हें दी जिम्मेदारी

सीएमएचओ डॉ. सोनी ने बताया कि हैल्पडेस्क पर वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. दिनेश पारीक एवं नर्स ग्रेड द्वितीय अहमद अली, डॉ. प्रमोद कुमार शर्मा व नर्स ग्रेड द्वितीय पंकज मीणा तथा डॉ. शशि कुमार परिहार व जीएनएम राकेश को तैनात किया गया है।

रविवार को शहरी क्षेत्र की सभी डिस्पेंसरियों पर होगी सैम्पलिंग

सीएमएचओ डॉ. सोनी ने बताया कि रविवार 25 अप्रैल को सुबह 9 बजे से सुबह 11 बजे तक शहरी क्षेत्र की सभी डिस्पेंसरियों पर कोरोना सैम्पलिंग होगी।