चित्तौड़गढ़ में दो महिलाओं समेत 5 कोरोना संदिग्ध की मौत

चित्तौड़गढ़। राजस्थान में चित्तौड़गढ़ जिले में दिनोंदिन तेज होते जा रहे कोरोना संक्रमण के बीच शनिवार को दो महिलाओं सहित पांच की कोरोना संदिग्धों की मौत हो गई जिनका कोविड गाइडलाइन के अनुसार अंतिम संस्कार किया गया।

चिकित्सा विभाग की आधिकारिक जानकारी के अनुसार जिले के रावतभाटा में 146 एवं चित्तौड़गढ़ शहर में 90 मरीजों सहित कुल 286 संक्रमित सामने आए हैं। जिले भर में इस समय 1381 सक्रिय मरीज हैं जिनका उपचार किया जा रहा है। सक्रिय मरीजों की सर्वाधिक चित्तौड़गढ़ शहर में है, इसके अलावा रावतभाटा, निम्बाहेड़ा शहर तथा डूंगला तहसील सर्वाधिक प्रभावित है।

उधर, शुक्रवार रात निम्बाहेड़ा, बस्सी व कपासन क्षेत्र से एक महिला सहित चार लोगों को स्थानीय स्वास्थ्य केंद्रों से जिला अस्पताल लाया गया जिन्हें सांस संबंधी परेशानी थी। इन चारों की उपचार के दौरान मौत हो जाने से प्रशासन में हड़कंप मच गया।

इन चारों का स्वास्थ बिगड़ने से लेकर यहां मौत होने तक चिकित्सा विभाग की घोर लापरवाही सामने आई कि इनके न तो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर और न ही यहां लाए जाने पर कोरोना सेम्पल लिए गए और सीधे ही आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिए गए वहीं मौत के बाद भी शव परिजनों को सुपुर्द कर दिए।

बाद में मामला कलेक्टर के संज्ञान में आने पर संबंधित क्षेत्रों में पुलिस को सूचना दी गई और मृतकों का कोविड गाइडलाइन से अंतिम संस्कार किया गया। प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. दिनेश वैष्णव ने चारों की सामान्य मौत बताई।

दूसरी ओर आज सुबह चित्तौड़गढ़ शहर के सेंथी क्षेत्र में निवासरत एक निजी विद्यालय की शिक्षिका की उसके घर में ही मौत हो गई, महिला कुछ दिनों से बुखार से पीड़ित थी।