अमरीका में जल्द मिल सकती है कोरोना वैक्सीन काे मंजूरी

वाशिंगटन। अमरीका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के प्रमुख स्टीफन हॉन ने अनुमान जताया है कि अगर तीसरे चरण के क्लीनिकल परीक्षण में परिणाम बेहतर मिलते हैं तो इसके पूरे होने से पहले ही कोरोना की किसी वैक्सीन को शीघ्र पंजीकृत किया जा सकता है।

फाइनेंशियल टाइम्स की रविवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक हॉन ने एक साक्षात्कार में यह बात कही। अमरीका में इस समय एस्ट्राजेनेका, मॉडर्ना और फीजर नामक तीन कंपनियों की ओर से कोरोना वायरस के वैक्सीन के तीसरे चरण के क्लीनिकल परीक्षण किए जा रहे हैं। अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले किसी वैक्सीन को मंजूरी प्रदान की जा सकती है।

हॉन ने कहा कि यदि वैक्सीन के तीसरे चरण के क्लीनिकल परीक्षण से पहले हमें लगता है कि यह सुरक्षित और कारगर है तो उसे मंजूरी दी जा सकती है। हॉन ने कहा कि एफडीए का फैसला राजनीति अथवा आगामी चुनाव पर नहीं बल्कि विज्ञान और चिकित्सा पर आधारित होगा।

गौरतलब है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) से गंभीर रूप से जूझ रहे अमेरिका में यह महामारी विकराल रूप ले चुकी है और अब तक 59 लाख से अधिक लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं।

अमरीका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक अमरीका में कोरोना संक्रमितों की संख्या 59 लाख काे पार कर 59,63,235 हो गई है, जबकि इस महामारी से मरने वालों की संख्या 1,82,786 पहुंच गई है।