गाय सम्पूर्ण विश्व की माता है : मोहम्मद फैज खान

anti cow slaughter activist Mohammad Faiz Khan

अजमेर। प्रसिद्ध गौ कथावाचक मोहम्मद फैज खान ने कहा है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर और मस्जिद है तथा गाय संपूर्ण विश्व की माता है।

गौ सेवा सदभावना पदयात्रा के तहत अजमेर पहुंचे खान ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हिंदुस्तान का मुसलमान पूरी तरह सुरक्षित है तथा अल्लाह, पैगंबर साहब तथा ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती भी गाय से मोहब्बत रखते थे। मॉब लिचिंग एवं गाय के मुद्दे को उन्होंने मीडिया का शगूफा बताते हुए यहां तक कहे दिया कि गाय जैसे मुद्दे को नेशनल इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में सही तरीके से नहीं उठाया जाता।

उन्होंने कहा कि 24 जनवरी 2017 को लेह लद्दाख से उन्होंने अपनी पैदल यात्रा शुरू की और 13 हजार किलोमीटर चलकर 19 राज्यों की पैदल यात्रा करते हुए 20वें राज्य राजस्थान में पहुंचे है। उन्होंने कहा कि इतनी लंबी पद यात्रा के दौरान हिंदू, मुस्लिम, ईसाई, फारसी तथा जय जिनेन्द्र कहने वालों ने भी उन्हेँ गले लगाया है।

खान ने कहा कि 27 महीने के इस सफर में उन्होंने अपने अनुभव से ये पाया कि सामाजिक दशा सुधारने में गौ माता की बहुत बड़ी भूमिका है। उन्होंने गौ सेवा के क्षेत्र में राजस्थान में किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि गौ सेवा सर्वोपरि है।

खान मूलरुप से सूरजपुरा रायपुर (छत्तीसगढ़) के है और उनका कर्म क्षेत्र दिल्ली है। वे पदयात्रा के दौरान भगवा कुर्ता धारण किए हैं तथा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से प्रेरित हो सर्वोदय के लिए लाठी भी थामे है। उन्होंने बताया कि वे महापुरुषों से प्रेरणा लेकर पैदल यात्रा पर निकले हैं। उनका मकसद गौ रक्षा का है तथा भारत अखंड बना रहे इसके लिए प्रयास करना है।

खान ने आज यहां ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह की जियारत भी की। वह शाम को तीर्थराज पुष्कर में पवित्र सरोवर की पूजा अर्चना के साथ साथ ब्रह्मा जी के दर्शन भी करेंगे तथा रात्रि विश्राम पुष्कर में ही करके कल सुबह किशनगढ़ के लिए रवाना होंगे। खान 16 अक्टूबर को जयपुर पहुंच जाएंगे। उनकी संपूर्ण पदयात्रा करीब पन्द्रह हजार किलोमीटर रहेगी और पदयात्रा का समापन जम्मू में होगा।