नोएडा के सीईओ ने अभियंता बृजपाल चौधरी को किया निलंबित

Crores recovered in Income Tax Raid at Noida Authority engineer Brijpal Chaudhary’s house

नोएडा। आय से अधिक संपत्ति के मामले में आयकर विभाग की जांच के घेरे में आए नोएडा के परियोजना अभियंता बृजपाल चौधरी को शुक्रवार को नवीन ओखला औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) आलोक टंडन ने निलंबित कर दिया है।

आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार को सहायक परियोजना अभियंता बृजपाल चौधरी के दिल्ली-नोएडा-गाजियाबाद-फरीदाबाद स्थित कई ठिकानों पर छापेमारी करते हुए करीब 200 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति होने का खुलासा किया था।

नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी आलोक टंडन ने बताया कि वर्क सर्कल एक में सहायक परियोजना अभियंता बृजपाल चौधरी के विभिन्न ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापेमारी के संबंध में नोएडा प्राधिकरण को सूचित किया है। इसके अलावा विभिन्न समाचार पत्रों में भी उनके संबंध में समाचार प्रकाशित हुए हैं जिसके आधार पर उनको निलंबित करते हुए प्रकरण की जांच शुरू कर दी गई है।

आयकर विभाग के अनुसार बृजपाल चौधरी का फरीदाबाद के सेक्टर-91 में आलीशान मकान है। नोएडा सेक्टर-52 में 450 वर्ग मीटर जमीन पर मकान है। सेक्टर-33 में तीन मंजिला मकान, सेक्टर-63 के सी ब्लॉक में 1,000 वर्ग मीटर में कंपनी, सेक्टर-63 में ही मोती महल भवन, मामूरा में 6,000 वर्ग मीटर भूमि, भंगेल सेक्टर-110 में रामा बैंक्वेट होल, पिलखुवा में दिल्ली वन पब्लिक स्कूल, मोदीनगर में कृषि फार्म का खुलासा हुआ है।

आयकर विभाग ने फिलहाल बृजपाल और उनके परिजनों के सारे बैंक खातों को सील कर दिया है। अधिकारियों का कहना है कि जांच पूरी होने तक सभी बैंक खातों से लेन-देन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा।