शाह के इशारे पर बंगाल में मतदाताओं को परेशान कर रहे सीआरपीएफ जवान

सीतलकुची/कूच बिहार। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इशारे पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवान मतदाताओं काे परेशान कर रहे हैं।

बनर्जी ने यहां बुधवार को एक जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय बलों के जवानों पर राज्य विधानसभा चुनाव के दौरान महिलाओं से छेड़छाड़ करने और लोगों के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के जवान मतदाताओं के वोट डालने में बाधा डाल रहे हैं और गृह मंत्री अमित शाह ने उन्हें ऐसा करने का निर्देश दिया है। हम स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव चाहते हैं, जनता को वोट डालने की अनुमति दी जानी चाहिए और सीआरपीएफ कर्मियों द्वारा उन्हें मतदान केंद्र में प्रवेश करने से रोका नहीं जाना चाहिए। मैं सीआरपीएफ का सम्मान करती हूं जो असली जवान हैं, लेकिन मैं भाजपा समर्थक सीआरपीएफ का सम्मान नहीं करती हूं जो महिलाओं पर हमला और लोगों को परेशान करके उपद्रव कर रहे हैं।

जन सभा के दौरान मुख्यमंत्री ने दावा किया कि राज्य में जारी विधानसभा चुनाव के दौरान कम से कम 10 लोग मारे गए हैं। बनर्जी ने कहा कि चुनाव आयोग प्रशासन चला रहा है और मैं आग्रह करती हूं कि कृपया वह देखे कि मतदान प्रक्रिया के दौरान किसी की भी मौत न हो और साथ ही सीआरपीएफ कर्मियों पर भी नजर रखी जाए जो अभी राज्य में ड्यूटी पर हैं। उन्हें महिलाओं को परेशान करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

केंद्रीय बल के कर्मचारियों द्वारा लड़कियों से छेड़छाड़ के मामले सामने आ रहे हैं। भाजपा बंगाल पर कब्जा करने के लिए बाहर से लाखों गुंडों को लेकर आई है, लेकिन यह इतना आसान नहीं है। पहले दिल्ली के बारे में सोचें और फिर बंगाल के बारे में।