क्रिप्टो करंसी की आड़ में ठगी, अंतरराष्ट्रीय गिरोह का सरगना समेत दो चढ़े STF के हत्थे

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस भोपाल विशेष कार्य बल ने प्रतिबंधित मुद्रा का कारोबार करने वालों का पर्दाफाश करते हुए एक अंतर्राष्ट्रीय गिरोह से जुड़े दो लोगों को गिरफ्तार किया है। एसटीएफ के हत्थे चढ़ने वालों में इस गिरोह का मुख्य सरगना ब्रजेश रैकवार और उसकी पत्नी सीमा रैकवार शामिल हैं। दोनों मध्यप्रदेश के जबलपुर निवासी हैं।

विशेष पुलिस महानिदेशक एसटीएफ पुरुषोत्तम शर्मा ने संवाददाताओं से चर्चा के दौरान बताया कि पूरा मामला करीब 50 करोड़ रुपए की ठगी से जुड़ा है, जिसमें करीब एक हज़ार लोगों के साथ ठगी सामने आई है। इस मामले के तार हांगकांग से भी जुड़े हैं।

बताया जा रहा है कि इस मामले में भारत से जुड़ा कारोबार एसी टेक्निशियन और मामूली डिप्लोमाधारी लोग चला रहे थे। भोपाल में ठगी का शिकार होने के बाद कई लोगों ने विशेष पुलिस महानिदेशक को इस बारे में शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एसटीएफ अशोक अवस्थी के निर्देशन में पूरी कार्रवाई को अंजाम दिया गया।

शिकायत में कहा गया कि पीसीयूसी नामक कंपनी की क्रिप्टो करंसी की खरीदी बिक्री विश्व में बहुत ज्यादा है। ब्रजेश रैकवार समेत दो लोग इस व्यवसाय में भारत में प्रमोटर हैं। दोनों पर फर्जी एक्सचेंज के आरोप लगे हैं।