राहुल गांधी का ट्विटर डरा कर ब्लॉक कराया गया : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सरकार ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का ट्विटर हैंडल दिल्ली में नाबालिग के साथ बलात्कार और हत्या की घटना पर उनकी बुलंद आवाज के कारण डरा धमका कर ब्लाक कराया गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत, रागिनी नायक, अलका लांबा और अमृता धवन ने रविवार को यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राहुल गांधी शोषित और पीड़ितों की आवाज बुलंदी के साथ उठाते हैं और दिल्ली की इस बच्ची के बलात्कार के बाद हत्या के मामले को भी वह उसी जोश के साथ उठाकर पीड़ितों को न्याय देने की बात कर रहे थे इसलिए उनके ट्विटर हैंडल को ब्लॉक किया गया है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के नागल राय में यह घटना ऐसे समय हुई है जब संसद का मानसून सत्र चल रहा है लेकिन आश्चर्य की बात है कि 11 महिला मंत्रियों से सजी मोदी सरकार के किसी नुमाइंदे ने इस मुद्दे को संसद में नहीं उठाया है। इससे साबित होता है कि वह सरकार पीड़ितों को न्याय देने पर भरोसा नहीं करती।

कांग्रेस की महिला प्रवक्ता ने कहा कि इस घटना को आठ दिन हो गए हैं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने इस मुद्दे पर अब तक कुछ नहीं बोला और चुप्पी साधे है और उल्टा इस मामले को जोर-शोर से उठाने वाले राहुल गांधी के ट्विटर को ब्लॉक करा दिया गया है। उन्होंने कहा कि पीड़ितों को न्याय दिलाने की बजाय सरकार पुलिस के सहारे पीड़ित परिवार का दमन कर रही है।