UN ने जारी की आतंकवादी संगठनों की सूची, हाफिज, दाऊद भी शामिल

Dawood Ibrahim, Hafiz Saeed's LeT on UN's new terror list
Dawood Ibrahim, Hafiz Saeed’s LeT on UN’s new terror list

वाशिंगटन। संयुक्त राष्ट्र ने आतंकवाद के खिलाफ कठोर रुख अपनाते हुए आतंकवादियों और आतंकवादी संगठनों की नई सूची जारी की है जिनमेें 139 पाकिस्तानी हैं।

महत्वपूर्ण बात यह है कि इस सूची में अल-कायदा, लश्कर-ए-तैयबा, जैशे मोहम्मद और जमात-उद-दावा को भी शामिल किया गया है जिन्हें आतंकवाद फैलाने के लिए भारत जिम्मेदार ठहराता रहा है। इनमें अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कासकर और मुंबई हमलों के मुख्य साजिशकर्ता हाफिज सईद का नाम भी है।

इसके पहले अमरीका ने भी मंगलवार को हाफिज की कथित राजनीतिक पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग को आतंकवादी संगठन घोषित किया। उसने हाफिज के संगठन लश्कर-ए-तैयबा को 26 दिसंबर 2001 में ही आतंकवादी संगठन घोषित करके इसके सरगना पर एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा हुआ है।

समाचार पत्र ‘डान’ के अनुसार कल जारी इस सूची में उन सभी आतंकवादियों के नाम शामिल हैं जो पाकिस्तान में रह रहे हैं अथवा वहां से अपने संगठनों को संचालित करते हुए आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान की सर-जमीन का प्रयोग करते हैं। इसके अलावा इस सूची में अमरीकी हमले में पाकिस्तान की जमीन पर मारा गया खूंखार आतंकवादी ओसामा बिन लादेन के वंशज का नाम भी शामिल है।

संयुक्त राष्ट्र का आरोप है कि इस्लामाबाद ने दाऊद को कई नामों से पाकिस्तानी पासपोर्ट जारी किये हैं जो रावलपिंडी और कराची से बनाये गए हैं। संयुक्त राष्ट्र का दावा है कि दाऊद का कराची के नूराबाद इलाके के पहाड़ी क्षेत्र में बंगला है।

एमएमएल के संस्थापक एवं लश्कर के सरगना हाफिज का नाम ऐसे आतंकवादी के रूप में शामिल किया गया है जिसे कई आतंकवादी वारदातों में शामिल होने के कारण इंटरपोल तलाश रहा है। लश्कर के कई और आतंकवादियों के भी नाम इस सूची में शामिल हैं जिनकी इंटरपोल को तलाश है।

इस सूची में पहला नाम अयमान अल-जवाहिरी का है जिसे अल-कायदा के सरगना ओसामा बिन लादेन का उत्तराधिकारी माना जाता है। संयुक्त राष्ट्र ने दावा किया है कि जवाहिरी अभी भी अफगानिस्तान-पाकिस्तान सीमा के पास कहीं रह रहा है। इस सूची में 12 से अधिक उन आतंकियों के नाम हैं जिन्हें पाकिस्तान में गिरफ्तार करके अमरीका को सौंपा जा चुका है।

संयुक्त राष्ट्र की इस सूची के बाद भारत के इस दावे की पुष्टि होती है कि दाऊद पाकिस्तान में है जिससे इस्लामाबाद लगातार इन्कार करता रहा है। राजनीति की आड़ में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने और पाकिस्तान की राजनीति में पांव जमाने का ख्वाब देखने वाले हाफिज का संगठन एमएमएल भी इस सूची में शामिल है।

इस सूची में लश्कर के मोहम्मद याहया मुजाहिद, अब्दुल सलाम और जफर इकबाल के नाम भी हैं। 9/11 का मास्टरमाइंड ओसामा बिन लादेन का जूनियर अल जवाहिरी भी शामिल हैं। माना जाता है कि जवाहिरी पाकिस्तान और अफगानिस्तान के सीमाई इलाके में छिपा हुआ है।

इसके साथ ही इस सूची में अल रशीद ट्रस्ट, हरकत उल मुजाहिदीन, इस्लामिक मूवमेंट ऑफ उज्बेकिस्तान, वफा ह्यूमेनिटेरियन ऑर्गनाइजेशन, राबिता ट्रस्ट, उम्माह तामीर-ए-नाउ, अफगानिस्तान सपोर्ट कमेटी, रेवीवल ऑफ इस्लामिक हेरीटेज सोसायटी, लश्कर ए झांगवी, अल हरमेन फाउंडेशन, इस्लामिक जिहाद ग्रुप, अल अख्तर ट्रस्ट इंटरनेशनल, हरकतुल जिहाद इस्लामी, तहरीके तालिबान पाकिस्तान, जमातुल अहरार एंड खतीबा इस्लाम अल बुखारी आदि संगठन ऐसे हैं जिनका संबंध पाकिस्तान से हैं।