डीसीएम श्रीराम लिमिटेड ने कोटा स्कूल सेनिटेशेन प्रोजेक्ट के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

डीसीएम श्रीराम लिमिटेड ने कोटा स्कूल सेनिटेशेन प्रोजेक्ट के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए
डीसीएम श्रीराम लिमिटेड ने कोटा स्कूल सेनिटेशेन प्रोजेक्ट के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

नई दिल्ली | डीसीएम श्रीराम लिमिटेड ने डीसीएम फाउन्डेशन के तत्वावधान में ‘श्रीराम स्वच्छगृह परियोजना’ की शुरूआत की है। जिसके तहत पूरे कोटा ज़िले में 1072 सरकारी स्कूलों के सेनिटेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर में सुधार लाया जाएगा। इसमें 777 प्राथमिक और 295 माध्यमिक स्कूल शामिल हैं। परियोजना का आयोजन 3-4 साल की अवधि के लिए किया जाएगा और इस पर कुल 15-20 करोड़ का व्यय होगा।

कोटा स्कूल सेनिटेशन परियोजना (श्रीराम स्वच्छगृह, स्वच्छ विद्यालय योजना, कोटा) के लिए 23 मई 2018 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। गौरव गोयल, आईएएस, ज़िला कलेक्टर, कोटा, रामू मीना, ज़िला शिक्षा अधिकारी (प्राथमिक) मिस अंजिलिका पलट, ज़िला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) और वीनू मेहता, अध्यक्ष एवं बिजनेस हैड- उर्वरक और सीमेंट, डीसीएम श्रीराम लिमिटेड ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।

परियोजना को राज्य परियोजना निदेशक, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान, जयपुर, मिस आनंदी आईएएस से इसी माह अनुमोदन मिला है। परियोजना के तहत कई लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं जैसे स्कूल में शौचालयों की उपलब्धता, शौचालयों का नियमित इस्तेमाल, खाने से पहले और बाद में हाथ धोना। इसके अलावा सरकारी स्कूलों केे आस-पास के इलाकों में ग्रामीण समुदायों में सेनिटेशन प्रथाओं को बढ़ावा देना तथा खुले में शौच पर रोक लगाना भी इन्हीं उद्देश्यों में शामिल है।

परियोजना के तहत कोटा ज़िले के सभी सरकारी स्कूलों में नए शौचालयों का निर्माण तथा मौजूदा शौचालयों का नवीनीकरण एवं रखरखाव किया जाएगा। संस्था स्कूलों के आस-पास के क्षेत्रों में सभी हितधारकों (छात्रों, अभिभावकों, ग्रामीण समुदायों) के व्यवहार में बदलाव लाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करेगी।

समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर के साथ भारत सरकार के स्वच्छ भारत मिशन की दिशा में एक महत्वाकांक्षी सीएसआर परियोजना की शुरूआत हुई है, जो विशेष रूप से सरकारी स्कूलों में सेनिटेशन की स्थिति में सुधार लाएगी। साथ ही कथित परियोजना का दायरा अन्य सभी सीएसआर परियोजनाओं से बड़ा है, जिनका संचालन राजस्थान राज्य में स्कूली सेनिटेशन में सुधार लाने के लिए किया जा रहा है। ज़िला कलेक्टर श्री गौरव गोयल ने पूरे समुदाय में सेनिटेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर में सुधार लाने तथा इस दृष्टि से लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने पर विशेष रूप से ज़ोर दिया।