लोकसभा में गूंजा तीन बच्चियों की भूख से मौत का मामला

Death of hunger by three children in Lok Sabha
Death of hunger by three children in Lok Sabha

नयी दिल्ली । दिल्ली में तीन बच्चियों की भूख के कारण मौत का मामला आज लोकसभा में उठा और भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों ने इसके लिए दिल्ली सरकार को दोषी मानते हुए उसे बर्खास्त करने की मांग की।

भाजपा के रमेश विधूड़ी, महेश गिरी तथा परवेश वर्मा ने शून्यकाल में यह मामला उठाया और इसके लिए दिल्ली सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए आम आदमी पार्टी की सरकार को बर्खास्त करने की मांग की।

विधूड़ी ने कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि देश के आदिवासी क्षेत्रों में गरीबों तक भोजन पहुंचाया जा रहा है लेकिन दिल्ली के उपमुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र में तीन मासूम बच्चियों की भूख की वजह से मौत हो जाती है। उन्होंने इस घटना के लिए दिल्ली सरकार को दोषी करार दिया और आरोप लगाया कि उसने राशन ढुलाई में 1500 करोड़ रुपए का घोटाला किया है और उस पर पर्दा डालने का प्रयास किया जा रहा है।

गिरि ने इसे दिल्ली की आम आदमी पार्टी की असफलता करार दिया और कहा कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ट्वीट कर असत्य बोल रहे हैं कि पीडित परिवार हाल ही में उनके निर्वाचन क्षेत्र में आया है। उन्होंने कहा कि इस परिवार को राशन नहीं दिया गया और मोहल्ला क्लीनिक में बच्चियों का इलाज करने से इनकार किया गया।

वर्मा ने कहा कि दिल्ली सरकार लोगों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रही है। सरकार लोगों के प्रति लापरवाह है और इसी का परिणाम है कि उपमुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र में बच्चियों की मौत भूख के कारण हो रही है।

पूर्वी दिल्ली के मंडावली में भूख के कारण आठ साल की मानसी, चार वर्ष की शिखा और दो साल के पारुल की मौत की खबर आज अखबारों में छपी है। डाक्टरों ने भी बच्चियों की मौत की वजह भूख बताया है।