उत्तरप्रदेश में हादसों का शनिवार : 28 की मौत, 25 घायल

लखनऊ। सड़क सुरक्षा सप्ताह के मौके पर उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज लोगों को यातायात नियमों का पालन करने की नसीहत दे रहे थे वहीं राज्य में घटित अलग-अलग हादसों में 28 से अधिक लोग अकाल मृत्यु का शिकार बन चुके थे।

शनिवार तड़के लखीमपुर खीरी में एक सड़क दुर्घटना में 13 लोगों की मृत्यु हो गई जबकि शाम ढलते ढलते बहराइच और बांदा में तीन तीन, शाहजहांपुर में दो, कन्नौज में चार, मऊ, सोनभद्र और देवरिया में एक एक लोग हादसों के दौरान काल की आगोश में समा गए। दुर्घटनाओं में कम से कम 25 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

लखीमपुर खीरी के पसगंवा क्षेत्र में आज हुई भीषण सड़क दुर्घटना में टाटा मैजिक सवार 13 लोगों की मृत्यु हो गई जबकि छह अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये। पुलिस अधीक्षक एसएस चिन्नपा ने यहां बताया कि तड़के करीब पांच बजे यह हादसा उस समय हुआ जब टाटा मैजिक वाहन शाहजहांपुर से सीतापुर सवारियां लेकर जा रहा था कि शाहजहांपुर-सीतापुर राष्ट्रीय राजमार्ग-24 पर उचौलिया कस्बे के पास वाहन सड़क किनारे खडे ट्रक में जा घुसा। इस भीषण हादसे मे नौ लोगों की मौके पर ही मृत्यु हो गई और नौ गंभीर रुप से घायल हो गए।

उन्होंने बताया कि घायलों को शाहजहांपुर के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां चार घायलों ने दम तोड़ दिया। वाहन पर कुल 18 लोग सवार थे। गंभीर रूप से घायल तीन लोगों को लखनऊ भेजा गया है जबकि तीन का इलाज शाहजहांपुर जिला अस्पताल में किया जा रहा है।

घायलों में सभी की हालत नाजुक बताई गई है। मरने वालों की पहचान अनूप कुमार अवस्थी, सरोज राजपूत (22), पूनम (24), लल्लू, रूरवसार (25), वेदपाल, वसीम, नाजिम और रोशनी (32) के तौर पर की गई है जबकि तीन शवों की शिनाख्त की जानी है। घायलों में सीतापुर के राजेश व प्रीती, मुजफ्फरनगर के सविरून निशा, फहीम एवं साजिया हैं।

कन्नौज से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार गुरसहायगंज क्षेत्र मेें आज नदी में नहाने गए चार बच्चों की डूबने से मृत्यु हो गई। भीषण गर्मी में काली नदी में नहाने गए शाहिल (12), फुजैल (13), सलमान (14) और अरमान (11) की डूब कर मृत्यु हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बच्चों को नदी से निकालने के लिए रेस्क्यू शुरू किया। काफी प्रयासों के बाद चारों बच्चों के शव नदी से बरामद किए जा सके।

बांदा के बिसंडा क्षेत्र में आज एक निजी बस के खाई में पलटने से कम से कम तीन यात्रियों की मृत्यु हो गई जबकि 24 से अधिक गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि बांदा से बबेरू की ओर जा रही एक निजी बस अलिहा गांव के निकट आनियंत्रित होकर खाई में पलट गई। इस दुर्घटना मे दो यात्रियों की मौके पर ही मृत्यु हो गई जबकि 24 से अधिक यात्री गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां एक महिला की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई।

बहराइच से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार अलग-अलग क्षेत्रों में आज हुई सड़क दुर्घटनाओं में जीजा-साली समेत तीन लोगों की मृत्यु हो गई जबकि एक महिला घायल हो गई। पुलिस सूत्रों ने बताया कि रिसिया क्षेत्र के मकोलिया गांव निवासी रामू (28) के छोटे भाई का विवाह एक मई को है। रामू की ससुराल कोतवाली देहात के कोड़री मसीहाबाद गांव में है।

कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रामू अपनी सास गजपति(42) और आठ वर्षीय साली आंचल को मोटरसाइकिल पर बैठाकर मसीहाबाद से रिसिया जा रहा था। गोंडा-बहराइच मार्ग पर नगरौर के पास एक तेज रफ्तार ट्रक ने उनकी मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी।

सोनभद्र से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार बभनी क्षेत्र में बारातियों की पिकअप कोल डिपो (बसकट्टा) के पास अनियंत्रित होकर पेड से टकरा गई जिससे चालक की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई एवं उसमें सवार अन्य पांच लोग घायल हो गए। पुलिस के अनुसार घायलों को पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बभनी में भर्ती कराया। हालत गंभीर होने की वजह से सभी घायलो को अम्बिकापुर के लिए रेफर कर दिया गया।

शाहजहांपुर के जलालाबाद क्षेत्र में आज अलग-अलग सड़क हादसों में मासूम सहित दो की मृत्यु हो गई। पुलिस सूत्रों ने आज यहां बताया कि निगोही क्षेत्र के ग्राम भटिउरा निवासी दिनेश, पत्नी एवं अपने पांच वर्षीय बेटे के साथ मोटरसाइकिल से जलालाबाद के ग्राम फतियापुर रिश्तेदारी में जा रहे थे। गांव से पहले कुछ दूरी पर ही ट्रैक्टर-ट्राली को ओवर टेक करते समय बच्चे का सिर ट्राली से लग गया और बच्चा नीचे गिर गया जिससे उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गई।

दूसरा हदसा कलान क्षेत्र के ग्राम बराकला निवासी दिनेश (35) आज बाइक द्वारा किसी काम से जलालाबाद आ रहे थे तभी कोला पुल पर सामने से आ रही तेज़ रफ़्तार मैजिक ने उनको टक्कर मार दी जिससे उनका सिर मैजिक के नीचे आ गया और उनकी घटना स्थल पर ही मौत हो गयी। चालक गाड़ी लेकर मौके से फरार हो गया।

मऊ के मोहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र में आज आॅटो पलटनेे से महिला की मृत्यु हो गई जबिक उसका बच्चा एवं चालक घायल हो गए। पुलिस के अनुसार पुष्पा देवी पत्नी अजीत चौहान घोसी जयरामपुर से मोहम्मदाबाद कस्बे ऑटो से अपने मायके आ रही थी। तभी मुहम्मदाबाद गोहना- घोसी मुख्य मार्ग पर भातकोल गांव के पास एक मोटरसाइकिल को बचाने के चक्कर में ऑटो पलटकर गड्ढे में गिर गया।

सूत्रों ने बताया कि चिल्लाने की आवाज सुनकर ग्रामीणों ने ऑटो को गड्ढे से बाहर निकाला और घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ले जा समय रास्ते में ही पुष्पा देवी (25) ने दम तोड़ दिया। उसका डेढ़ वर्ष का बच्चा और चालक अशोक को भर्ती कराया गया है। कुछ अन्य यात्रियों को भी चोटें आई हैं।

देवरिया से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार बरहज क्षेत्र में आज सरयू नदी में नाव पलटने से दस लोग डूब गए जिनमे नौ को बचा लिया गया जबकि एक व्यक्ति का अब तक कोई पता नहीं चल सका है।

उपजिलाधिकारी अरूण सिंह ने बताया कि सरयू नदी के कुटी घाट से कुछ लोग छोटी नाव में सवार होकर परसिया देवार के तरफ जा रहे थे कि इसी बीच तेज हवा के कारण नाव डगमगा कर पलट गई और उसमे सवार दस लोग पानी में जा गिरे। शोरगुल सुन कर स्थानीय गोताखोरों ने सात लोगों को बचा लिया जबकि दो तैरकर किनारे आ गये। इस हादसे में राधेश्याम नामक व्यक्ति लापता है जिसकी तलाश की जा रही है।

उधर, परिवहन सुरक्षा रैली (रन फाॅर सेफ्टी) के शुभारम्भ के मौके पर योगी ने कहा कि सड़क सुरक्षा नियमों का पालन कर हम स्वयं एवं दूसरों की रक्षा कर सकते हैं। सड़क पर चलते समय लापरवाही बरतने से अनेक लोग दुर्घटनाओं का शिकार होते हैं। ऐसे में जरूरत इस बात की है कि ट्रैफिक नियमों का पालन किया जाए और वाहनों को सम्भाल कर चलाया जाए। नियमों के उल्लंघन से अराजकता का माहौल बनता है और सभी को कठिनाई होती है।

उन्होंने कहा कि सड़क पर सुरक्षित यात्रा मौजूदा समय में एक गम्भीर चुनौती है। सुरक्षित सड़क यात्रा के लिए यह आवश्यक है कि प्रत्येक मोटर वाहन चालक सड़क का इस्तेमाल करने वाले सभी लोगों की सुरक्षा के प्रति संवेदनशील रहे। उत्तर प्रदेश में सड़क पर वाहन चलाने वालों की संख्या निरन्तर बढ़ रही है,इसलिये सड़क यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए यातायात नियमों के प्रति जागरूकता आवश्यक है। इसके लिए समाज के सभी वर्गों की सक्रिय सहभागिता जरूरी है।