रात्रि कर्फ्यू, दिन में रैलियाें में लाखों लोगों को बुलाना समझ से परे : वरुण गांधी

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी ने रात में कर्फ्यू लगाने और दिन में लाखों लोगों की भीड़ बुलाकर चुनावी रैलियां करने पर अपनी ही पार्टी की सरकार पर सवाल खड़े किए हैं।

वरुण गांधी ने ट्वीट किया कि रात में कर्फ्यू लगाना और दिन में रैलियों में लाखों लोगों को बुलाना यह सामान्य जनमानस की समझ से परे है। उन्होंने लिखा कि उत्तर प्रदेश की सीमित स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के मद्देनजर हमें ईमानदारी से यह तय करना पड़ेगा कि हमारी प्राथमिकता भयावह ओमिक्रॉन के प्रसार को रोकना है अथवा चुनावी शक्ति प्रदर्शन।

उल्लेखनीय है कि वरुण गांधी ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए बीते दिनों कई बार अपनी ही पार्टी की सरकार पर निशाना साधा था।

दरअसल देश-प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एहितयात के तौर पर उत्तर प्रदेश में रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लगा दिया है। राज्य में हालांकि आगामी विधानसभा चुनाव के कारण राजनीतिक दलों की रैलियां हो रही हैं। इस भीड़ में कोरोना प्रोटोकॉल का अनुपालन नहीं हो रहा है।