राजस्थान में अंतर्राज्यीय सीमा पर वाहनों के आवागमन को नियंत्रित करने का निर्णय

Decision to control vehicular movement across the inter-state border in Rajasthan
Decision to control vehicular movement across the inter-state border in Rajasthan

जयपुर। राजस्थान में वैश्विक महामारी कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते इस पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार ने अंतरराज्यीय सीमा पर वाहनों का आवागमन नियंत्रित करने का निर्णय लिया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज समीक्षा बैठक की तथा इसके बाद गृह विभाग ने अन्य राज्यों से आने वाले वाहनों को नियंत्रित करने के निर्देश दिए। गहलोत ने कहा कि संक्रमण को फैलने से रोकना सरकार की प्राथमिकता है। राज्य में लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने के मद्देनजर सुबह अंतर्राष्ट्रीय सीमा सील करने के आदेश जारी किये गये थे। लेकिन उसके बाद सरकार ने एक संशोधित आदेश जारी करते हुए कहा कि इसे सीमा सील करने की बजाय वहां आवागमन को नियंत्रित करना समझा जाए। जिसमें कहा गया है कि सीमा सील नहीं कर वहां आवागमन को नियंत्रित किया जायेगा।

अंतर्राज्यीय सीमा पर आवागमन नियंत्रित करने के लिए सभी जिलों को निर्देश दिए गये हैं कि अंतरराज्यीय आवागमन को नियंत्रित किया जाए तथा बिना अनुमति के राज्य की सीमा में प्रवेश या बाहर नहीं जाने दिया जाए।

अब फिर से प्रदेश में किसी अन्य राज्य से प्रवेश के लिए अनुमति लेनी होगी जो आपातकालीन परिस्थितियों एवं मेडिकल इमरजेंसी में ही दी जा सकेगी। हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन और बस अड्डों पर भी सतर्कता बढ़ायी जाएगी। फिलहाल सीमा पर आवागमन नियंत्रण सात दिन के लिए होगा।

उल्लेखनीय है कि राज्य में कोरोना का कहर जारी है और अब तक इसके 11 हजार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और अब तक 255 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है।