भीलवाड़ा में महिला को डायन बताकर बदनाम करने का मामला दर्ज

भीलवाड़ा। राजस्थान में भीलवाड़ा जिले के करेडा थाना क्षेत्र में एक बुजुर्ग महिला को डायन बताकर गांव में बदनाम करने एवं बेटे को एनडीपीएस एक्ट में फंसाने की धमकी देने का मामला सामने आया है।

धमकी देने वाले आरोपितों में से एक ने तो यहां तक कह दिया कि वह खुद एनडीपीएस का काम करता हैं और हर चक्कर के पुलिस को पैसा देता है। ऐसे में पुलिस उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती।

घटना की रिपोर्ट पीड़ित ने करेड़ा थाने में चार लोगों के खिलाफ दर्ज करवाई है। पुलिस के अनुसार क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले एक व्यक्ति ने नारायण सिंह सहित चार लोगों के खिलाफ अदालत के इस्तगासे से केस दर्ज करवाया है।

परिवादी का आरोप है कि नारायण सिंह ने कहा कि वह, स्वयं दो नम्बर का काम करता है। पुलिस वाले उसके मिलने वाले ही है। वह, पुलिस वालो को हर फेरे के पैसे देता है। पुलिस वाले उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकते है।

रिपोर्ट में कहा कि आरोपिायों ने परिवादी की मां को गांव में डायन कहकर बदनाम कर रखा है। इसक कारण से उसकी मां का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। उसे डायन कहकर बार-बार ताना मारते हैं। परिवादी एवं उसका परिवार आरोपितों की धमकियों से डरे हुए है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी।

चार बदमाशों को एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

भीलवाड़ा शहर के प्रतापनगर थाना क्षेत्र में लूट और मारपीट कर दहशत पैदा करने के आरोप में गिरफ्तार चार बदमाशों को आज एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेज भेज दिया।

जानकारी के अनुसार एक ही रात में लूट और मारपीट की 6 वारदातों को अंजाम देने वाले चार आरोपि‍यों को भीलवाड़ा की चार थाना पुलि‍स ने संयुक्‍त प्रयास से कल गि‍रफ्तार कि‍या था।

मिर्ची मण्‍डी में नीबू मिर्च बेचने वाले चौथमल माली के साथ मारपीट करने के आरोप में गि‍रफ्तार कि‍ए गए चि‍त्‍तौड़ में टेंट हाउस का काम करने वाले सुनील धोबी, पुताई और पेंटि‍ंग करने वाले गौरव कोली, आरसीसी डालने वाले राकेश बलाई और 12वीं पास कर चुके कॉलेज के छात्र मोहि‍त खटीक को आज न्‍यायालय में पेश कि‍या। न्‍यायालय ने प्रतापनगर थाना पुलि‍स को एक दि‍न के रि‍माण्‍ड पर सौंपा है।