देहरादून : व्हाट्स एप ग्रुप के जरिये चलने वाले सैक्स रैकेट का भंडाफोड़

Dehradun police busted sex racket on whatsapp group, two girls rescued
Dehradun police busted sex racket on whatsapp group, two girls rescued

देहरादून। उत्तराखंड के देहरादून पुलिस ने व्हाट्स एप ग्रुप के जरिये चलने वाले एक सैक्स रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए संचालक और तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया और उनके चंगुल से जबरन देहव्यापार में झोंकी गई दो पीड़िताओं को मुक्त कराया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दून पुलिस को कुछ दिनों पहले सूचना मिली थी कि एक गिरोह आॅनलाइन व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए सैक्स रैकेट चला रहा है। उसके बाद पुलिस उस सैक्स रैक्ट को पकड़ने लिए सक्रिय हो गई।

इस मामले में पुलिस ने मुखबिरों का भी सहारा लिया। बीते रोज की देर शाम पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि आॅनलाइन सैक्स रैकेट गिरोह के संचालक एवं दो युवतियां सेलाकुई में देखी गई है।

इसके बाद उनकी धर पकड़ के लिए पुलिस ने सेलाकुई में तलाशी अभियान चलाया। तलाशी के दौरान पुलिस के हत्थे एक हौंडा सिविक कार में एक महिला आरोपी सहित अन्य चार आरोपी एवं दो देह व्यापार में झोंकी गई पीड़िताएं चढ़ गई। उनकी एवं कार की तलाशी लेने पर पुलिस को उनके देह व्यापार से अर्जित 17 हजार 200 रुपए की नकदी, सात मोबाइल एवं अश्लील सामग्री बरामद की गई।

पूछताछ के दौरान मुख्य आरोपी ओमप्रकाश ने बताया कि वह पहले ड्राइवर का काम करता था, उस दौरान उसकी मुलाकात जूही शर्मा से हुई जो पहले से ही देह व्यापार में लिप्त थी।

दोनों ने पैसों के लालच में मजबूर लड़कियों को चिह्नित कर उनको पैसों का लालच एवं काम दिलाने का भरोसा देकर उनसे जबरदस्ती देह व्यापार कराने का काम करवाते थे। वर्तमान में वे टर्नर रोड क्लेमेंटटाउन में एक घर किराए पर लेकर ऑनलाइन स्कोट सर्विस चलाते है।

पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है। सैक्स रैकेट के दल दल में झोंकी गई दोनों लड़कियां दिल्ली के सीमापुरी निवासी बताई जा रही है। जिन्हें उनके परिजनों के सुपुर्द किया जाएगा।

भोपाल में कोचिंग छात्रा के साथ गैंगरेप, देखें आरोपियों का क्या हुआ हाल