दिल्ली : अनाज मंडी अग्निकांड, केजरीवाल ने दिए न्यायिक जांच के आदेश

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने रानी झांसी रोड के निकट अनाज मंडी में रविवार सुबह एक चार मंजिला इमारत में लगी भीषण आग के न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं तथा मृतकों के परिजनों को दस लाख और घायलों के परिजनों को एक लाख रूपए सहायता राशि देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में जो भी दोषी होगा उसे सख्त से सख्त सजा दी जाएगी। केजरीवाल ने सुबह घटनास्थल का दौरा कर मृतकों के परिजनों को दस लाख तथा घायलों के परिजनों को एक लाख रूपए सहायता राशि देने की घोषणा की है। उन्होंने घटनास्थल का दौरा करने के बाद एलएनजेपी जाकर घायलों से मुलाकात की।

उन्होंने यहां चिकित्सकों से भी बातचीत कर घायलों का हालचाल जाना और कहा कि घायलों के इलाज का खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी। इस भीषण हादसे में अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है और झुलसे लोगों को राम मनोहर लाल लोहिया, हिंदू राव अस्पताल, सफदरजंग, लेडी हार्डिंग और लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अग्निकांड से प्रभावित लोग अपनों की तलाश में परेशान

दिल्ली के रानी झांसी रोड के निकट अनाज मंडी में लगी भीषण आग से प्रभावित हुए लोग हताश-परेशान होकर अपनों की तलाश में अस्पतालों के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन कोई उचित व्यवस्था नहीं होने के कारण उन्हें बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल में मौजूद कासिम नाम के एक व्यक्ति ने बताया कि उसके ससुर उस जैकेट फैक्ट्री में काम करते थे जिसमें आग लगी है और अभी तक उनका कुछ पता नहीं चल पाया है। सनाउल्ला नाम के अन्य व्यक्ति ने बताया कि उसकी बुआ का लड़का इस फैक्ट्री काम करता था और अभी तक उसके बारे में भी कोई जानकारी नहीं मिली है।

इलियास नाम के एक युवक ने बताया कि उसके जान-पहचान के व्यक्ति मुर्शरफ की हादसे में मौत हो गई है है। वह उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले का रहने वाला था। अस्पताल में मुर्शरफ का शव देखने दिया गया है, लेकिन इसे पोस्टमार्टम के बाद ही ले जाने की अनुमति दी जाएगी।

हर्षवर्धन ने अनाज मंडी आग हादसे पर जताया शोक

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन ने राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को रानी झांसी रोड़ के निकट अनाज मंडी इलाके के भीषण अग्निकांड पर गहरा दुख व्यक्त किया।

डॉक्टर हर्षवर्धन ने हादसे पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया कि मुझे पता चला कि मेरे संसदीय क्षेत्र चांदनी चौक की अनाज मंडी में आग लगने से कई लोगों की मौत हुई है। इस घटना से मैं अत्यंत दुखी व व्यथित हूं। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति एवं उनके परिजनों को संबल प्रदान करने तथा घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

हर्षवर्धन दरअसल उत्तर प्रदेश के झांसी में महाराली लक्ष्मीबाई मेडीकल कॉलेज के नवर्निर्मित कार्यक्रम में शिरकत के लिए पहुंचे थे। हादसे की जानकारी मिलने के तुरंत बाद वह झांसी दिल्ली वापस लौट रहे हैं। उन्होंने कहा कि अनाज मंडी अग्निकांड के बारे में स्थानीय प्रशासन से निरंतर जानकारी ले रहा हूं। घायलों के बेहतर उपचार के लिए सभी अस्पताल अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे दिए गए हैं। भाजपा कार्यकर्ता यथासंभव प्रशासन की मदद कर रहे हैं।

कांग्रेस ने दिल्ली सरकार और एमसीडी को जिम्मेदार ठहराया

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस ने अनाज मंडी के भीषण अग्निकांड पर गहरा दुख व्यक्त किया और इस हादसे के लिए दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) को जिम्मेदार ठहराया।

दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा, पूर्व मंत्री हारून यूसुफ और पूर्व सांसद जयप्रकाश अग्रवाल ने अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल जाना और उनके परीजनों काे सांत्वना दी।

चोपड़ा ने इस अग्निकांड के लिए दिल्ली सरकार और एमसीडी को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि यह हादसा इलाके में अव्यवस्था और गलियों में फैले तारों के जंजाल की वजह से हुआ है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की तरफ से मृतकों और घायलों के परिजनों को राहत राशि दिए जाने की घोषणा पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि किसी की मौत भरपाई पैसों से नहीं की जा सकती।

दिल्ली : अनाज मंडी में 4 मंजिला इमारत में आग, 40 से अधिक की मौत