दिल्ली के बिंदापुर में युवती की हत्या के मामले में 3 आरोपी अरेस्ट

नई दिल्ली। पश्चिमी दिल्ली के बिंदापुर इलाके में 24 वर्षीय युवती की चाकू मारकर हत्या किए जाने के एक दिन बाद बुधवार को दिल्ली पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया और उनके पास से हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार बरामद किए। पुलिस ने बताया कि डॉली बब्बर नामक इस युवती की कथित तौर पर 18 और 19 अक्टूबर की दरम्यानी रात एक व्यक्ति ने चाकू मारकर हत्या कर दी थी।

द्वारका दिल्ली के पुलिस उपायुक्त शंकर चौधरी ने बताया कि युवती के दोस्तों ने पड़ोस में एक निर्माणाधीन इमारत की छत पर जन्मदिन की पार्टी का आयोजन किया था। वहीं से लौटने के दौरान उसकी हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि पार्टी के दौरान, आरोपी अंकित और डॉली के बीच किसी मसले पर तीखी बहस हो गई, जिसके कारण उसकी हत्या कर दी गई। डॉली फ्रीलांस इवेंट आर्गेनाइजर थी।

एक राहगीर ने पुलिस को सूचना दी कि उत्तम नगर में गली नंबर-1 पर गुरुद्वारा सेवा सिमरन के पास एक संकरी गली में एक महिला खून से लथपथ पड़ी है। पुलिस तुरंत हरकत में आई और गंभीर रूप से घायल युवती को डीडीयू अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। डीसीपी ने बताया कि आसपास के क्षेत्र में पूछताछ के आधार पर महिला की पहचान उत्तम नगर निवासी डॉली बब्बर के रूप में की गई है।

पुलिस ने आरोपितों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार करने के लिए छह टीमों का गठन किया। आसपास के इलाके के सीसीटीवी का विश्लेषण किया गया और स्थानीय जांच की गई। पुलिस ने देखा कि घटना के बाद तीनों पैदल ही विकास नगर भाग गए और फिर ऑटो से आनंद विहार गए।

फिर उन्होंने चंडीगढ़ के लिए एक बस ली और वहां पहुंचकर पटियाला के लिए रवाना हो गए। इस दौरान पुलिस दल लगातार उनका पीछा कर रहा था और पंजाब, हरियाणा तथा दिल्ली में उनके सभी संभावित ठिकानों पर छापे मार रहा था जिसके कारण उन पर दिल्ली आने का दबाव बढ़ गया था। इस वजह से वे तीनों दिल्ली लौट आए।

बाद में, फिर से द्वारका मोड़ में उनके ठिकाने के बारे में गुप्त सूचना मिली, जहां से हिमांशु और मनीष को पकड़ा गया और उनकी सूचना के आधार पर द्वारका के सेक्टर 23 से अंकित को गिरफ्तार किया गया।

अंकित ने पुलिस को देखकर भागने की कोशिश एक इमारत से छलांग लगा दी, जिससे उसके दोनों पैर टूट गए। आरोपियों की पहचान अंकित गाबा, हिमांशु और मनीष शर्मा के रूप में की गई है।