नवरात्रि पर लॉकडाउन के कारण मंदिरों से दूर श्रद्धालु

नई दिल्ली। नवरात्रि त्योहार के अवसर पर बुधवार को राजधानी के सभी प्रसिद्ध मंदिरों के कपाट बंद रहे। यह पहला मौका है नवरात्रि पर मंदिर के कपाट बंद रहे हैं।

कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रकोप के कारण मंदिरों के प्रथम नवरात्रि पर श्रद्धालुओं के लिये कपाट बंद रहे हैं। हालांकि मंदिर में पारंपरिक तरीके से पूजा अर्चना की गई।

राजधानी दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर झंडेवालान, कालकाजी, छत्तरपुर, प्रीतविहार के गुफा वाले मंदिर, मयूर विहार फेस-2 के शीतला माता मंदिर सहित सभी मंदिरों कपाट बंद रहे। पुजारियों ने मंदिर में पूजा अर्चना की तथा किसी भी श्रद्धालु को मंदिरों में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई।

देश में यह पहली बार है कि नवरात्रि में प्रमुख मंदिरों के कपाटों को कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से बंद करना पड़ा है। इससे पहले वैष्णोदवी की यात्रा भी स्थगित की जा चुकी है। मंदिर के पुजारियों ने श्रद्धालुओं से अपने घर में ही रहकर पूजा करने की अपील की है।

राजधानी के विभिन्न इलाकों में नवरात्रि पूजा से संबंधित और आवश्यक वस्तुओं की दुकानें आज सुबह खुली देखी गई। पुलिसकर्मी लोगों से दूरी बनाकर सामान लेने की अपील करते देखे गए।