दिल्ली हिंसा : जामिया के छात्रों ने आधी रात को घेरा केजरीवाल का आवास

नई दिल्ली। उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर से कोई ठोस प्रतिक्रिया नहीं आने के खिलाफ जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों और पूर्व छात्रों ने मुख्यमंत्री आवास का घेराव किया। प्रदर्शनकरियों को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने पानी की बौछारें की और कुछ छात्रों को हिरासत में लिया।

जामिया कोर्डिनेशन कमेटी और एलुमनी असोसिएशन ऑफ जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों मंगलवार देर रात साढ़े 12 बजे केजरीवाल के आवास का घेराव करने का आह्वान किया और आरोप लगाया कि पिछले तीन दिनों से राजधानी में खुलेआम हिंसा हो रही है लेकिन मुख्यमंत्री की ओर से कोई जिम्मेदारी वाला बयान नहीं है। प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि हिंसा में शामिल गुंडों के खिलाफ केजरीवाल को अवश्य कड़ी प्रतिक्रिया देनी चाहिए।

हिरासत में लिए गए लोगों को सिविल लाइन थाने ले जाया गया था। हिरासत में लिए छात्रों और पूर्व छात्रों को छोड़ दिया है। इनमें से कुछ घायल हैं जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया जा रहा है। कोर्डिनेशन कमेटी ने हिंसा के खिलाफ आज जंतर मंतर पर प्रदर्शन के लिए लोगों से बड़ी संख्या में शामिल होने का आह्वान किया है।

वहीं तनावपूर्ण हालात के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने कल देर रात उत्तर-पूर्वी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त कार्यालय पहुंचकर हिंसा के मौजूदा हालात के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली और हिंसाग्रस्त इलाकों का दौरा किया।

गौरतलब है उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 13 लोगों की मौत हो गई है और 200 से अधिक लोग घायल हुए हैं। कल रात से किसी बड़ी हिंसा की सूचना नहीं है लेकिन हालात बेहद तनावपूर्ण है।