पुष्कर पशु मेला भरने की अनुमति की मांग जोर पकड़ने लगी

अजमेर। राजस्थान में अजमेर के निकटवर्ती तीर्थराज पुष्कर में अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुष्कर पशु मेला एवं कार्तिक पूर्णिमा के पंचतीर्थ स्नान जैसे कार्यक्रमों के लिए अनुमति देने की मांग जोरर पकड़ने लगी हैं।

पुष्कर विधायक सुरेश सिंह रावत ने संभागीय आयुक्त एवं कलेक्टर से पुष्कर मेले के धार्मिक एवं सांस्कृतिक महत्व से अवगत कराते हुए अनुमति जारी करने की मांग की है। इससेेे पहले नागौर सांसद हनुमान बेनिवाल, अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी, कांग्रेस नेता राजेश टंडन, पुष्कर तीर्थ पुरोहित संघ, पुष्कर पशु मेला से जुड़े पशुपालक संघ सहित कई ज्ञापन स्थानीय प्रशासन को मेले के लिए दिए जा चुके हैं जिसे राज्य सरकार को अनुमति के लिए भेजा गया।

राज्य के पशुपालन विभाग के संयुक्त शासन सचिव लक्ष्मीकांत बालोत ने पुष्कर मेला आयोजन का निर्णय अजमेर के संभागीय आयुक्त एवं कलेक्टर पर छोड़ दिया है। पुष्कर मेले के आयोजन में अब कोई ज्यादा समय नहीं बचा है इसलिए स्थानीय प्रशासन पर जनप्रतिनिधियों से लेकर धार्मिक संस्थाओं तथा जनता जनार्दन का आयोजन के लिए दबाव बढ़ता जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि पुष्कर में पंद्रह दिनों का पुष्कर पशु मेला तथा एक सप्ताह का धार्मिक पंचतीर्थ स्नान का आयोजन होता है और कार्तिक पूर्णिमा को मेला विधिवत संपन्न हो जाता है। इस मेले से हजारों लोगों की रोजी रोटी एवं रोजगार के साथ आस्था भी जुड़ी होती है।