यूनानी चिकित्सा पद्धति को चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना में शामिल करने की मांग

अजमेर। ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस राजस्थान रजि संगठन ने मुख्यमंञी, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं आयुर्वेद मंञी, शासन सचिव आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा विभाग को कलक्टर के माध्यम से ज्ञापन दिया।

ज्ञापन में यूनानी चिकित्सा पद्धति को भी सरकार की बहुउद्देषीय चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना से वंचित करने की स्थिति से अवगत कराया।

ज्ञापन में ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस ने मुख्यमंञी चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत जिला कार्यक्रम समन्वयक पदों पर भर्ती हेतु विज्ञापन पर सवालिया निशान लगाते हुए संस्था के प्रदेश अध्यक्ष डॉ नवाज़ुल हक़, यूनानी मेडिकल ऑफिसर विंग राजस्थान के महासचिव डॉ मोहम्मद रोशन, अजमेर जिला अध्यक्ष डॉ मंसूर अली, जिला सचिव डॉ अनिसुर रहमान ने सरकार से मांग की है कि यूनानी चिकित्सा डिग्री धारकों को चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना में शामिल किया जाए।

ज्ञात हो कि स्टेट इंश्योरेंस बीमा योजना राजस्थान के द्धारा दिनांक 02/06/2021 की विज्ञप्ति में एमबीबीएस, बीएएमएस, बीएचएमएस की पाञता को मान्य किया है और बीयूएमएस डिग्री धारकों को शामिल नहीं किया। जबकि बीएएमएस, बीएचएमएस एवं बीयूएमएस तीनों समकक्ष डिग्री है।

इस मुद्दे को लेकर संगठन ने प्राचीनतम पद्धति की उपेक्षा महसूस करते हुए सरकार से इस ज्ञापन के द्धारा गुहार लगाई है कि यूनानी चिकित्सा पद्धति बीयूएमएस डिग्री धारकों को इस विज्ञप्ति में शामिल कर इसकी उपेक्षा होने से बचाने की मेहरबानी करें।