हॉस्टल में फीस की बढ़ोतरी को लेकर दिल्ली के जेएनयू में हुआ बवाल

Demonstration held in JNU, Delhi for increase in fees in hostels
Demonstration held in JNU, Delhi for increase in fees in hostels

दिल्ली जेएनयू प्रशासन को हॉस्टल में फीस बढ़ोतरी करना आज भारी पड़ गया। इसके विरोध में आज छात्रों का सड़क पर आकर खुलकर आक्रोश फैल गया। दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पिछले कई दिनों से छात्र हॉस्टल की बढ़ाई गई फीस को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन सोमवार को छात्रों का उग्र प्रदर्शन हो गया और उन्होंने जेएनयू कैंपस में बवाल काटा। प्रदर्शन के दौरान उग्र हुए छात्र वाइस चांसलर के खिलाफ छात्र गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाने वसंत कुंज थाने जा रहे थे।

तभी छात्रों को जेएनयू कैंपस के गेट पर तैनात सीआरपीएफ और दिल्ली पुलिस के जवानों ने रोक लिया। इसके बाद छात्र कैंपस के अंदर विरोध प्रदर्शन करने लगे। पुलिस के द्वारा छात्रों को रोकने से प्रदर्शन और फैल गया। गौरतलब है कि कई दिनों से हॉस्टल फीस बढ़ोतरी के खिलाफ छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्रों के प्रदर्शन के मद्देनजर कैंपस में सीआरपीएफ की तैनाती की गई। प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना है कि कुलपति आंदोलन को कुचलने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि, प्रॉक्टर का कहना है कि हमने सीआरपीएफ को नहीं बुलाया। छात्रों के प्रदर्शन दौरान 3 घंटे तक जेएनयू में अफरा-तफरी का माहौल रहा।

छात्रों के प्रदर्शन में एबीवीपी ने भी दिया साथ

हॉस्टल में फीस बढ़ोतरी को लेकर छात्रों के प्रदर्शन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद यानी एबीवीपी ने भी खुलकर साथ दिया। दूसरी ओर जेएनयू प्रशासन का कहना है कि जिस नियम के खिलाफ प्रदर्शन किया जा रहा है, वो 14 साल से लागू है। छात्रों के इस विरोध प्रदर्शन के साथ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भी काली पट्टी बांधकर विरोध कर रहे हैं। छात्र संगठन की मांग है कि हॉस्टल मैनुअल और फीस बढ़ोतरी के आदेश को वापस लिया जाए।

छात्रों का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन चाहता है कि हॉस्टल से रात 11 बजे के बाद निकलने में पाबंदी लगा दी जाए। स्टूडेंट्स को हॉस्टल में ड्रेस कोड के तहत लाया जाए। आज हुए प्रदर्शन के बाद जेएनयू कैंपस में सीआरपीएफ और पुलिस को तैनात कर दिया गया है।

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार