जोगणिया धाम पुष्कर में देवी भागवत पुराण कथा का समापन

अजमेर। अधिक जयेष्ठ मास के अवसर पर जोगणिया धाम पुष्कर में आयोजित देवी भागवत पुराण की कथा के समापन पर शनिवार को कथा वाचक पंडित प्रकाश शर्मा ने सावित्री माता की उपासना व अनुष्ठान तथा गायत्री मंत्र शक्ति सत्य वान सावित्री की कथा तथा देवी के भ्रामरी अवतार व भुवनेश्वरी के सर्व लोक का वर्णन सुनाया।

देवी भागवत की महिमा सुनकर परीक्षित पुत्र जनमेजय ने अम्बा यज्ञ करवाया तथा अकाल मृत्यु से प्रेत बने परीक्षित की आत्मा का मोक्ष हुआ। इसके साथ ही कथा का समापन हो गया।

समापन के अवसर पर जोगणिया धाम पुष्कर संस्थापक जयोतिषाचार्य भंवर लाल ने गुरू महिमा भजन की प्रस्तुति दी तथा बताया कि जब तक मन में मलिनता होगी तब तक ये सभी कथा कीर्तन श्रवण तीर्थ यात्रा केवल एक मंनोरजन बन कर ही रह जाएगी।

भले ही इन सब पर विश्वास ना करों लेकिन इन्हे फर्जी कहना भी बुद्धिमता नहीं होगी। इस प्रकृति ने हर अंहकारी व मनमानी करनें वालों का सदा ही पतन ओर विनाश किया है फ़िर वो किसी भी क्षेत्र का महाबली क्यों ना हो। रविवार को देवी के भोग अर्पण तथा इनकी स्तुति गायक कलाकार घनश्याम राव प्रस्तुत करेंगे।