737 मैक्स विमानों पर प्रतिबंध जारी रहेगा : डीजीसीए

नई दिल्ली। अमरीकी विमान निर्माता कंपनी बोइंग के 737 मैक्स विमानों के देश में उड़ने पर प्रतिबंध अभी जारी रहेगा।

नागर विमानन महानिदेशालय डीजीसीए ने आज एक आदेश जारी कर स्पष्ट किया है कि इन विमानों के भारतीय वायु क्षेत्र में उड़ान भरने पर मार्च 2019 में लगाया गया प्रतिबंध इस संबंध में अगले आदेश तक बना रहेगा।

मैक्स विमान के दोनों मॉडल बोइंग 737-8 और बोइंग 737-9 विमान भारतीय भूमि से उड़ान नहीं भर सकेंगे और न ही देश में उतर सकेंगे। साथ ही इन विमानों के भारतीय वायु क्षेत्र से गुजरने पर भी प्रतिबंध रहेगा।

संयुक्त अरब अमीरात की किफायती विमान सेवा कंपनी फ्लाईदुबई ने पिछले दिनों डीजीसीए से भारत में इन विमानों के परिचालन की अनुमति मांगी थी, जिसे नियामक ने नकार दिया था। इसी के मद्देनजर डीजीसीए को मार्च 2019 के आदेश को अपडेट करना पड़ा है।

छह महीने से भी कम समय में मैक्स विमानों के दो बड़े हादसों के बाद 2019 के आरंभ में दुनिया भर में इनके परिचालन पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। बाद में बोइंग ने इन विमानों की खराबी ठीक की है और उसका दावा है कि अब ये पूरी तरह सुरक्षित हैं।

देश में इस समय 18 बोइंग मैक्स विमान हैं। मार्च 2019 से ही ये ग्राउंडेड हैं। ये विमान किफायती विमान सेवा कंपनी स्पाइसजेट और दिवालिया हो चुकी जेट एयरवेज के पास हैं। नियामक ने स्पष्ट किया है कि विदेशों में पंजीकृत इन विमानों को यदि एयलाइन वापस भेजना चाहती है तो इस उद्देश्य के लिए उड़ान की अनुमति दी जा सकती है।