खरीफ सीजन के लिये 2800 करोड़ रुपये का ब्याज मुक्त फसली ऋण का वितरण

खरीफ सीजन के लिये 2800 करोड़ रुपये का ब्याज मुक्त फसली ऋण का वितरण
खरीफ सीजन के लिये 2800 करोड़ रुपये का ब्याज मुक्त फसली ऋण का वितरण

जयपुर | राजस्थान में खरीफ सीजन के लिये अब तक किसानों को 2800 करोड़ रुपये से अधिक का ब्याज मुक्त फसली ऋण का वितरण किया जा चुका है।

राज्य के सहकारिता एवं गोपालन मंत्री अजय सिंह किलक ने आज बताया कि खरीफ सीजन के लिये फसली ऋण के वितरण का कार्य तेजी से चल रहा है और इस वर्ष खरीफ सीजन के लिये दस हजार करोड़ रुपये के फसली ऋण वितरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जो गत वर्ष की तुलना में एक हजार करोड़ रुपये से अधिक है।

किलक ने बताया कि प्रदेश में शिविरों का आयोजन कर किसानों को कर्जमाफी के प्रमाण पत्रों का वितरण किया जा रहा है और अब तक 502 शिविरों का आयोजन हो चुका है और एक लाख 8 हजार 315 किसानों को 319.14 करोड़ रुपये के कर्जमाफी के प्रमाण पत्रों का वितरण किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इन शिविरों में किसान द्वारा मूल ऋणमाफी के बाद शेष बकाया राशि जमा कराने एवं ऋण के लिये आवेदन करने पर पूर्व में जितना ऋण स्वीकृत था उतना ऋण किसान को मुहैया कराया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि शिविरों में 84 हजार 357 सीमान्त एवं लघु किसानों का 239 करोड़ 87 लाख रुपये का मूल ऋण, 93 करोड़ 17 लाख रुपये ब्याज राशि एवं 23 करोड़ 10 लाख रुपये की शास्ति राशि सहित कुल 251 करोड़ 51 लाख रुपये की कर्जमाफ किया गया है। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार अन्य श्रेणी के 23 हजार 958 किसानों का 67 करोड़ 64 लाख रुपये का कर्ज माफ किया गया है। किलक ने बताया कि जैसे जैसे किसानों के ऋण खातों का वेलिडेशन का कार्य पूरा होता जा रहा है वैसे ही ग्राम सेवा सहकारी समितियों में कर्जमाफी के प्रमाण पत्रों के वितरण हेतु शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।