न्यायाधीश पर अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष को पीटने का आरोप, हंगामा

डालटनगंज। झारखंड में पलामू जिले के प्रभारी प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश पंकज कुमार के खिलाफ अधिवक्ताओं ने आज जमकर हंगामा किया।

पलामू जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सचिदानंद तिवारी उर्फ नेहरू के साथ बदलसूकी और गाली गलौज करने का आरोप लगाकर सारे अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्य का बहिष्कार कर दिया। इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए बार के अध्यक्ष तिवारी ने शहर थाना में आवेदन दिया है।

आवेदन में तिवारी ने कहा है कि न्यायाधीश पंकज कुमार (नंबर दो) के न्यायालय में उनके अलावा अन्य अधिवक्ताओं ने पूर्वाहन 11 बजे से जमानत आवेदन को प्रचालित करने के लिए बैठे थे, लेकिन वे दोपहर करीब 12 बजे तक न्यायालय में नहीं पहुंचे।

करीब 12.30 बजे जब वे पहुंचे तो नम्रतापूर्वक कहा कि आप कृपा करके अपने बैठने का समय निश्चित कर दें, ताकि अधिवक्ताआं एवं मुवक्किलों को परेशानी न हो। यह भी कहा कि आदेश पर गए वाद का आदेश भी उसी तारीख पर देने की कृपा की जाए।

तिवारी ने कहा कि इतना सुनते ही न्यायाधीश पंकज कुमार आग बबूला हो गए और कहा कि वह समय निश्चित नहीं करूंगा। इस पर सारे अधिवक्ता कोर्ट से वकालतखाना में आ गए। कुछ समय बाद अदालत कार्य से दूसरे कोर्ट में जा रहा था तो गेट के नजदीक पंकज कुमार पुलिस के साथ आए और कॉलर पकड़ लिया। इस दौरान मुझे गालियां देने के साथ ही मारपीट भी की गई।

बार अध्यक्ष ने कहा कि घटना को देखकर साथी अधिवक्ताओं ने उन्हें बीच बचाव करा छुड़ाया। इसके बाद सारे अधिवक्ताओं के निर्णय पर कार्य बहिष्कार का निर्णय लिया गया। इस संबंध में स्टेट बार काउसिंल और हाईकोर्ट को अवगत कराया जाएगा। प्राथमिकी दर्ज करने के लिए थाना प्रभारी से आग्रह किया गया है।

इधर, घटना के बाद से सारे अधिवक्ता चादर बिछाकर न्यायालय परिसर में बैठ गए हैं और अनिश्चितकाल तक के लिए न्यायालय का कार्य नहीं करने का निर्णय लिया है। जिला बार एसोसिएशन ने मांग की है कि जब तक पंकज कुमार यहां से बर्खास्त नहीं हो जाते, तब तक किसी भी प्रकार का न्यायिक कार्य नहीं करेंगे और न्यायालय परिसर में ही सभी अधिवक्ता का धरना पर बैठे रहेंगे।

धरना पर बैठने वाले में अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष एसएन तिवारी, महासचिव सुबोध कुमार सिन्हा, उपाध्यक्ष मनधारी दुबे, पूर्व अध्यक्ष गिरिजा सिंह सहित सैकड़ों अधिवक्ता शामिल हैं।