दिवाली का तोहफा : पेट्रोल डीजल हुआ सस्ता, राज्यों से वैट में कटौती की अपील

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने महंगाई से परेशान उपभोक्ताओं को राहत पहुंचाने एवं किसानों को रबी सीजन में सस्ता ईंधन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से दिवाली के तोहफे के तौर पर पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमश: पांच रुपए और 10 रुपए की कटौती करने का निर्णय लिया है जिससे इन दोनाें की कीमतें कम होंगी। ये कटौती बुधवार से प्रभावी हो जाएगी।

वित्त मंत्रालय ने मंगलवार रात जारी एक बयान में यह ऐलान करते हुए कहा कि इस कटौती के अनुरूप ही इन दोनों ईंधन की कीमतें भी कम हो जाएगी। सरकार ने कहा कि पेट्रोल की तुलना में डीजल पर उत्पाद शुल्क में दो गुनी कटौती की गई है ताकि रबी सीजन में किसानों को राहत मिल सके।

बयान में कहा गया है कि हाल के महीने में वैश्विक स्तर पर तेल की कीमतों में तेजी आई है और उसके अनुरूप ही घरेलू स्तर पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढोतरी हुई है। दुनिया भर को तेल की कमी का ऐहसास हुआ है और कीमतों में इसके कारण बढोतरी हुई है। केन्द्र सरकार ने देश में ईंधन की आपूर्ति सुनिश्चित करने की पूरी कोशिश की है जिसके परिणामस्वरूप देश में पेट्रोल और डीजल की उपलब्धता मांग के अनुरूप रही है।

बयान में कहा गया है कि कोरोना के कारण आई आर्थिक सुस्ती में देश के आकांक्षी लोगों की उद्यमशिलता की क्षमता के बल पर अर्थव्यवस्था तेजी से पटरी पर लौटी है। अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों जैसे विनिर्माण, सेवा या कृषि के बेहतर प्रदर्शन से आर्थिक गतिविधियां पटरी पर लौटी है।

मंत्रालय ने कहा है कि अर्थव्यवस्था को तीव्र गति प्रदान करने के उद्देश्य से सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में यह कटौती का निर्णय लिया है। इस कटौती से इन दोनों उत्पादों की मांग बढ़ेगी और महंगाई को कम करने में मदद मिलेगी। इससे गरीब और मध्सम वर्ग को बड़ी राहत पहुंचेगी।

इसके ही केन्द्र सरकार ने राज्यों से भी इन दोनों ईंधन पर वैट में कटौती करने की अपील भी की है ताकि उपभोक्ताओं का अधिक राहत मिल सके। अभी देश के सभी प्रमुख शहरों में पेट्रोल की कीमत 110 रुपए प्रति लीटर को पार कर चुकी है। अधिकांश शहरों में डीजल भी शतक लगा चुका है। राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 110.04 रुपए प्रति लीटर और डीजल 98.42 रुपए प्रति लीटर है।

सतीश पूनियां ने मोदी का जताया आभार

राजस्थान के भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष डॉ सतीश पूनियां ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कम करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताते हुए कहा है कि इससे गरीब और मध्यम वर्ग को मदद मिलेगी।

डा पूनियां ने राज्य सरकार से मांग की है कि उसे भी डीजल पेट्रोल पर वैट घटाकर प्रदेश की जनता को राहत प्रदान करनी चाहिए। उल्लेखनीय है कि दिवाली की पूर्व संध्या पर केन्द्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क घटाने का ऐलान किया है। इससे अब पेट्रोल पर पांच रुपए और डीजल पर दस रुपए कम हो जाएगा।