त्रिपुरा में डॉक्टर ने नर्स और बुजुर्ग ने लूटी नाबालिग की अस्मत

अगरतला। त्रिपुरा में खोवाई जिले के तेलियामुरा उपखंड अस्पताल के एक चिकित्सा अधिकारी और एक बुजुर्ग को पिछले 24 घंटों में बलात्कार की दो अलग-अलग मामलों में गिरफ्तार किया गया है।

डॉक्टर को नर्स से बलात्कार करने के आरोप में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया जबकि नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार के आरोप में 80 वर्षीय बुजुर्ग को पुलिस ने स्थानीय अदालत में पेशकर रिमांड की मांग की है।

पुलिस ने कहा कि एक नर्स ने बुधवार को तेलियामुरा थाने में अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरजीत दास के खिलाफ बलात्कार करने के आरोप में शिकायत दर्ज कराई। उसने कहा कि डाॅ दास ने उसको शादी का झांसा देकर 10 दिन तक अपने क्वार्टर में रखा और उसके साथ बलात्कार किया। बाद में वह शादी से मुकर गया।
आरोपों के अनुसार डाॅ दास के हाल में अगरतला सरकारी मेडिकल कॉलेज में तैनात नर्स से संबंध बन गए थे।

नर्स ने पुलिस को बताया कि आखिरकार डाॅ दास ने उसे शादी तय करने की बात कहकर अपने क्वार्टर में बुलाया और उसके बाद उसका यौन शोषण किया। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर गुरुवार को आरोपी डॉक्टर को अस्पताल से गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां से उसे दो सप्ताह के लिए जेल भेज दिया गया।

पुलिस ने एक अन्य घटना में गुरुवार को खोवाई थाना क्षेत्र के पूर्वी सोनाताला गांव के एक 80 वर्षीय व्यक्ति को एक नाबालिग लड़की से बलात्कार करने के आरोप में गिरफ्तार किया।

सूत्रों के अनुसार गुरुवार सुबह एक बुजुर्ग महिला अपनी नाबालिग पोती को घर पर छोड़कर ईंट तोड़ने के लिए पूर्वी सोनातला गांव गई थी। महिला जब दोपहर बाद घर आई तो उसे उसकी पोती नहीं मिली। नाबालिग बालिका बासुदेव तांती (80) के घर से रोती हुई बाहर निकली और बाद में उसने अपने माता-पिता और रिश्तेदारों को आपबीती सुनाई। पुलिस ने पॉक्सो के तहत मामला दर्ज किया है।