कोटा में दोहरा हत्याकांड, पत्नी-पुत्र की हत्या

कोटा। राजस्थान में कोटा के रामपुरा क्षेत्र में एक व्यक्ति ने कल शाम कुल्हाड़ी से हमला कर अपनी पत्नी की हत्या कर दी। लेकिन देर रात को यह पता चला कि इस हमले में आरोपी का पुत्र भी घायल हुआ है जिसकी उपचार के दौरान आज सुबह मौत हो गई

पुलिस सूत्रों ने बताया कि कोटा के कोतवाली क्षेत्र के भाटापाडा में रहने वाला सुनील कल सुबह रेलवे कॉलोनी क्षेत्र में अपने ससुराल में पत्नी सीमा (35) के साथ किसी पारिवारिक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गया था जहां से वह तीसरे पहर बाद लौट आए थे।

इसके बाद पति-पत्नी में क्या विवाद हुआ, उसका खुलासा नहीं हो पाया लेकिन शाम को पति सुनील ने कुल्हाड़ी से हमला करके अपनी पत्नी सीमा की हत्या कर दी और शव को घर से घसीटते हुए लाकर चैराहे पर पटक दिया।

इसके उपरांत वह कुल्हाड़ी सहित रामपुरा कोतवाली जा पहुंचा और पुलिस के सामने अपनी पत्नी की हत्या की बात कबूल हुई। इस हमले में सुनील का आठ माह का बेटा भी जख्मी हुआ था जिसका पता बाद में चला तो पुलिस ने उसे भी कल रात्रि को एमबीएस अस्पताल में भर्ती करवाया जहां आज सुबह उसने भी दम तोड़ दिया।

पुलिस ने आरोपी सुनील (38) के खिलाफ दोहरा हत्याकांड का मुकदमा दर्ज किया है। आज मां और बेटे के शव को पोस्टमार्टम के बाद मृतका के पीहर पक्ष को सौंप दिया गया।

रिश्वत का आरोपी सुपरवाइजर, कम्प्यूटर ऑपरेटर को जेल भेजा

कोटा जिले के विरोध क्षेत्र में रिश्वत लेने के आरोप में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो द्वारा गिरफ्तार किए गए आशा सुपरवाइजर एवं कम्प्यूटर ऑपरेटर को आज न्यायालय ने जेल भेजने के आदेश कर दिए।

आधिकारिक सूत्रों ने आज बताया कि कल कोटा एसीबी की टीम ने परिवादी आशा सह्योगनी दाखा मेघवाल की शिकायत पर कार्यवाही करते हुए दीगोद पीएचसी पर तैनात आशा सुपरवाइजर शकीला बानो एवं कम्प्यूटर ऑपरेटर सतीश को 2500 रुपए की घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था।

दोनो आरोपियों को आज भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की अदालत में पेश किया था जहां से संक्षिप्त सुनवाई के बाद अदालत ने दोनों को जेल भेजने के आदेश दिया। फिलहाल दोनो आरोपियों को नयापूरा थाने में रखा गया है जहां पहले दोनो आरोपियों का कोरोना टेस्ट करवाया जाएगा जिसके बाद उन्हें जेल में दाखिल करवाया जाएगा।