डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने सर्वस्व बलिदान किया

डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने सर्वस्व बलिदान किया
डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने सर्वस्व बलिदान किया

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यालय में आज जनसंघ के संस्थापक सदस्य डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 65वीं पुण्यतिथि पर उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश महामंत्री (संगठन) चन्द्रशेखर, प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा, प्रदेश मंत्री मुकेश दाधीच, राज्यसभा सांसद मदन लाल सैनी, प्रदेश कार्यालय प्रभारी मुकेश पारीक, मुकेश चेलावत एवं मीडिया सम्पर्क प्रमुख आनन्द शर्मा सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

भाजपा के प्रदेश महामंत्री (संगठन) चन्द्रशेखर ने बताया कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी जनसंघ के पुरोधा एवं संस्थापक रहे, जिन्होंने भाजपा की नीवं रखी। संसद में अपने भाषण में डॉ. मुखर्जी ने धारा 370 को समाप्त करने की भी जोरदार वकालत की थी। अगस्त 1952 में जम्मू की विशाल रैली में उन्होंने अपना संकल्प व्यक्त किया था कि  या तो मैं जम्मू-कश्मीर को भारतीय संविधान प्राप्त कराऊंगा या फिर इस उद्देश्य की पूर्ति के लिये अपना जीवन बलिदान कर दूंगा।