दुनिया में टेलीरोबोटिक विधि से मानव हृदय का पहला ऑपरेशन

Dr Tejas Patel performs world's first human telerobotic coronary intervention surgery in Ahmedabad
Dr Tejas Patel performs world’s first human telerobotic coronary intervention surgery in Ahmedabad

गांधीनगर/अहमदाबाद। दुनिया में मानव के हृदय पर पहली टेलीरोबोटिक कोरोनरी सर्जरी के तहत बुधवार को गुजरात में हृदयरोग से पीड़ित एक प्रौढ़ महिला का 32 किलोमीटर की दूरी से विशेषज्ञ डाक्टर के जरिये रोबोट को निर्देश देकर धमनी में आए अवरोध को दूर किया गया।

दुनिया के जाने माने हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ तेजस पटेल ने राजधानी गांधीनगर के अक्षरधाम मंदिर में बैठ कर वहां से 32 किमी दूर अहमदाबाद में स्थित उनके अस्पताल एपेक्स हार्ट इंस्टीच्यूट में भर्ती कालोल निवासी महिला के हृदय से रोबोट के जरिये धमनी अवरोध (ब्लॉकेज) हटाया और स्टेंट लगाया। कुछ ही मिनटों में हुए इस टेलीरोबोटिक हाई सर्जरी का एक विशाल स्क्रीन पर मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और मीडिया ने भी जीवंत अवलोकन किया।

पटेल ने बताया कि यह प्रक्रिया चिकित्सा जगत में एक नया राह खोलेगी। उन्होंने कहा कि रोबोट को निर्देश देने के लिए उन्होंने 100 एमबीपीएस की इंटरनेट लाइन का इस्तेमाल किया मगर यह 20 एमबीपीएस होने पर भी सफलतापूर्वक ऐसा किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि इसे अमरीका के कोरिंडस वैस्कुलर रोबोटिक्स इंक की कोरपाथ तकनीक का इस्तेमाल इस प्रक्रिया के लिए किया गया। यह प्रक्रिया शुरू में महंगी है पर समय के साथ सस्ती हो जाएगी। इससे हजारों किमी दूर बैठे मरीज का भी विशेषज्ञ की सहायता से रोबोट के जरिये ऐसा ऑपरेशन किया जा सकता है। ऑपरेशन के दौरान इंटरनेट फेल होने पर 30 सेकेंड के भीतर सारी प्रक्रिया हाथ से हो सकती है।

उन्होंने इस प्रक्रिया के लिए अक्षरधाम मंदिर इसलिए चुना क्योंकि वह अपने तरह के दुनिया के इस पहले ऑपरेशन को लेकर खासे मानसिक दबाव में भी थे।