जम्मू वायु सेना स्टेशन में ड्रोन से हमला, IAF ने की दो विस्फोट की पुष्टि

नई दिल्ली/जम्मू। रक्षा मंत्री राज नाथ सिंह ने जम्मू वायु सेना स्टेशन पर आज ड्रोन हमले के संबंध में वाइस एयर चीफ, एयर मार्शल एचएस अरोड़ा से बात की। एयर मार्शल विक्रम सिंह स्थिति का जायजा लेने खुद जम्मू पहुंच रहे हैं।

रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट किया कि रक्षा मंत्री राज नाथ सिंह ने जम्मू वायु सेना स्टेशन पर आज की घटना के संबंध में वाइस एयर चीफ, एयर मार्शल एचएस अरोड़ा से बात की। एयर मार्शल विक्रम सिंह स्थिति का जायजा लेने खुद जम्मू पहुंच रहे हैं।

गौरतलब है कि जम्मू स्थित भारतीय वायु सेना अड्डे पर रविवार को हुए दो विस्फोटों में दो कर्मचारी घायल हो गए और इमारत का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। देश में यह अपनी तरह का पहला हमला है जब जम्मू वायु सेना स्टेशन पर विस्फोटकों को ड्रोन के जरिए गिराया गया। विस्फोट में दो कर्मचारी घायल हो गए और इमारत का एक तरफ का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया।

एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू वायु सेना स्टेशन के उच्च सुरक्षा क्षेत्र में आज लगभग एक बजकर 40 मिनट पर कम तीव्रता वाले दो विस्फोट हुए। वायु सेना ने ट्वीट में कहा कि विस्फोटकों में से एक ने इमारत की छत को मामूली क्षति पहुंचाई जबकि दूसरा खुले क्षेत्र में विस्फोट हुआ।

अधिकारी ने कहा कि विस्फोट के कारण छत के पंखे और खिड़कियों के शीशे टूट गए। विस्फोट में वायु सेना के दो कर्मचारी डब्ल्यूओ अरविंद सिंह और एलएसी एसके सिंह को मामूली चोटें आई। उन्हें प्राथमिक चिकित्सा दी गई। आईएएफ ने स्पष्ट किया कि विस्फोट से किसी उपकरण को क्षति नहीं पहुंची। सिविल एजेंसियों के साथ जांच जारी है।

इस बीच जम्मू कश्मीर पुलिस ने कहा कि पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा जम्मू में आतंकवादी हमलों को अंजाम देने के लिए त्वरित शक्तिशाली विस्फोटक (आईईडी) का इस्तेमाल कर रहा है।

जम्मू -कश्मीर पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह (डीजीपी) ने कहा पुलिस ने पांच से छह किलाे आईईडी बरामद किया। यह लश्कर के आतंकवादियों से मिला और इसे भीड़भाड वाले स्थान पर लगाया जाना था।

उन्होंने कहा आईईडी बरामदगी की यह घटना रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तीन दिवसीय दौरे पर लद्दाख पहुंचने से कुछ घंटे पहले हुई थी जो केंद्र शासित प्रदेश में और सीमाओं पर समग्र सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करने के लिए लद्दाख पहुंचे हैं।

जम्मू वायु सेना स्टेशन पर ड्रोन हमले के बीच कश्मीर में चेतावनी जारी