अजमेर : ई मित्र संचालक व साथी 10 हजार रूपए रिश्वत लेते अरेस्ट

अजमेर। राजस्थान के अजमेर जिले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरों ने ब्यावर उपखंड के जवाजा थाना क्षेत्र में बुधवार को ई मित्र संचालक एवं उसके साथी को दस हजार रुपए की रिश्वत राशि के साथ गिरफ्तार कर लिया।

ब्यूरों के सूत्रों के अनुसार सिलिकोसिस बीमारी से ग्रसित परिवादी रणवीर सिंह से आरोपियों ने सरकारी योजना के प्रमाण पत्र की एवज में रिश्वत मांगी। पीड़ित ने ब्यूरो का सहयोग लिया और ब्यूरो द्वारा शिकायत का सत्यापन करने के बाद कार्यवाही करते हुए ई मित्र संचालक डुंगर सिंह और उसके साथी चुन्नू सिंह को दस हजार रुपए की रिश्वत राशि के साथ रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया।

रिश्वतखोर ईमित्र संचालक ने पीड़ित से एक लाख तीस हजार रुपए की मांग की जिसमें से पचास हजार रुपए परिवादी पहले ही दे चुका है। इसके बावजूद रिश्वतखोर बाज नहीं आ रहे थे क्योंकि वह द्वितीय श्रेणी के सिलिकोसिस बीमारी से ग्रसित घोषित किया गया और उसका ऑनलाइन प्रमाण पत्र एवं तीन लाख की सरकारी सहायता मिलनी थी।

ई मित्र संचालक ऑनलाइन कार्य में योजना का लाभ दिलाने के नाम पर रिश्वत मांग रहे थे। ब्यूरों का दल गिरफ्तार रिश्वतखोरों के मकान व बैंक अकाउंट की तलाशी में जुटा है।