स्वस्थ रहने के लिए सूर्यास्त से पहले करें भोजन

Eat before sunset to stay healthy

हेल्थ डेस्क। रात में या देर रात में भोजन करना स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। देर रात भोजन करने से पाचन तंत्र कमजोर भी होता है और उतना सक्रिय नहीं रहता है। बरसों पहले हमारे देश में सूर्यास्त होने से पहले लोग भोजन करते थे, तभी स्वस्थ रहते थे। लेकिन पिछले कुछ वर्षों में व्यस्त जीवन शैली में लोग देर रात में भोजन कर रहे हैं, जिसके कारण कई बीमारियां चपेट में आ रही हैं।

अब अमेरिकी शोधकर्ताओं ने सूर्यास्त से पूर्व भोजन करना स्वास्थ्य के लिए अच्छा बताया है इनका दावा है कि शाम 6 बजे से पहले भोजन करने से मोटापा, डायबिटीज पर नियंत्रण लगेगा। दरअसल, जब स्वस्थ रहने की बात आती है तो हम क्या खाते हैं के साथ ही यह भी अहम होता है कि हम कब खाते हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि शरीर अपनी आंतरिक घड़ी के अनुसार प्रतिक्रिया करता है।

रात के समय पाचन तंत्र कम सक्रिय रहता है

अमेरिकी शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि पाचन तंत्र रात के समय कम सकरी रहता है सूर्यास्त से पहले भोजन करने से पाचन तंत्र मजबूत रहता है। रात के समय पाचन तंत्र कम लार बनाता है, पेट पाचक रस का उत्पादन कम करता है, भोजन को आगे बढ़ाने वाली आंतें सिकुड़ जाती हैं और हम हॉर्मोन इंसुलिन के प्रति कम संवेदनशील हो जाते हैं। चूहों पर हुए शोध के आधार पर दावा इस बात की पुष्टि के लिए चूहों के दो समूहों को एक समान कैलोरी का भोजन दिया गया।

अंतर केवल इतना था कि पहले समूह की भोजन तक पहुंच 24 घंटे थी, जबकि दूसरे समूह को दिन के 8 घंटे ही भोजन दिया गया। कुछ दिन बाद पाया गया कि पहले समूह का वजन बढ़ गया था। इस समूह में उच्च कोलेस्टेरॉल और टाइप 2 डायबिटीज जैसे लक्षण दिखने लगे थे। जबकि जिस समूह को तय समय पर भोजन दिया जा रहा था, वह स्वस्थ था। महत्वपूर्ण बात यह भी सामने आई कि दूसरे समूह में टाइप 2 डायबिटीज से लड़ने की क्षमता विकसित हो गई थी।

दिन में भी भोजन करने का समय तय करेंआंतों को मरम्मत का मौका मिलना जरूरी

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के शोध में बताया गया कि जो लोग सोने से एक घंटे पहले भोजन करते हैं, वे अपनी ब्लड शुगर शर्करा को उतनी बेहतर तरीके से नियंत्रित नहीं कर पाते, जितने बेहतर तरीके से जल्दी भोजन करने वाले। समयबद्ध भोजन सेहत के लिए बेहतर है, क्योंकि इससे आंतों को खुद की मरम्मत का मौका मिल जाता है। रोज पाचन की प्रक्रिया के दौरान आंतों की 10 में से एक कोशिका क्षतिग्रस्त होती है। देर रात भोजन और सुबह जल्दी ब्रेकफास्ट करने से उन्हें मरम्मत और सुधार का कम समय मिल पाता है, इसलिए दिन में भी भोजन का समय तय करें।

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार