अजमेर में उर्स मेले पर विशेष रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी

अजमेर। राजस्थान में अजमेर शरीफ में इसी महीने से शुरु हो रहे 808वें सालाना उर्स के लिए उत्तर पश्चिमी रेल्वे उर्स मेला स्पेशल यात्रीगाड़ियों का संचालन करेगा।

रेलवे के सूत्रों ने बताया कि उर्स मेले में हजारों जायरीनों के अजमेर आने की संभावना के मद्देनजर रेल्वे अधिकारी दरगाह कमेटी के नुमाइंदों के साथ बैठक करके उक्त आशय का प्रस्ताव मुख्यालय भेज चुके हैं। इसकी मंजूरी मिलते ही मेले के दौरान 26 विशेष ट्रेनों का संचालन किया जाएगा।

सूत्रों के अनुसार बैठक अतिरिक्त रेल मंडल प्रबंधक संजीव कुमार की मौजूदगी में हो चुकी है जिसमें उर्स स्पेशल ट्रेन संचालन पर विस्तार से चर्चा के बाद जायरीनों की सुविधा के लिए देश के विभिन्न राज्यों के प्रमुख शहरों को जोड़ती हुई ट्रेन संचालित की जाएगी ताकि उर्स में शामिल होने वाले जायरीन अजमेर शरीफ पहुंच सकें। इन विशेष रेलगाड़ी के अलावा नियमित संचालित हो रही गाड़ियों में अतिरिक्त कोच लगाने की भी व्यवस्था की जा रही है।

सूत्रों ने बताया कि अजमेर के मुख्य स्टेशन पर जायरीनों का भार ज्यादा न पड़े इसके लिए कुछ ट्रेनों को अजमेर के उपनगरीय स्टेशन मदार एवं दौराई से भी संचालित किया जाएगा। इन उपनगरीय स्टेशनों से शहर अथवा कायड़ विश्राम स्थली तक पहुंचने के लिए रोडवेज बसों की व्यवस्था रहेगी।

इतना ही नहीं पूरे उर्स के दौरान लाखों जायरीनों की सुविधा के लिए रेल्वे प्रबंध अजमेर स्टेशन के अलावा दरगाह गेस्टहाउस पर भी पूछताछ, टिकिट एवं आरक्षण के लिए अतिरिक्त काऊंटर खोलेगा। सूत्रों ने बताया कि उर्स स्पेशल ट्रेनों का संचालन 25 फरवरी से पांच मार्च तक किया जाएगा।

उर्स का झंडा परम्परागत तरीके से 20 फरवरी को दरगाह के बुलंद दरवाजे पर चढ़ेगा और रजब का चांद दिखाई देने पर 24 अथवा 25 फरवरी से विधिवत उर्स का आगाज होगा।