ईडी मीडिया घरानों को चुनिंदा सूचनाएं लीक कर रहा है: कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पर आरोप लगाया है कि वह पार्टी नेता की छवि खराब करने के लिए कुछ मीडिया घरानों को चुनिंदा सूचनाएं लीक कर रहा है।

कांग्रेस प्रवक्ता अजय माकन ने सोमवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राहुल गांधी के खिलाफ जांच को प्रभावित करने के लिए मोदी सरकार द्वारा कहानी गढ़ी जा रही है।

नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गांधी के चौथी बार ईडी के सामने पेश होने के बाद माकन की यह टिप्पणी आई है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार हमारे नेताओं की छवि खराब करने के लिए झूठी और चुनिंदा खबरें-सूचनाएं लीक कर रही है।

माकन ने कहा कि नेशनल हेराल्ड मामला ऐसा मुद्दा है, जिसमें किसी को एक पैसे का लाभ नहीं हुआ है, लेकिन फिर भी लगातार चौथे दिन हमारे नेता को बुलाया गया है, जो पार्टी की छवि करने का प्रयास है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार केन्द्रीय जांच ब्यूरो और ईडी का इस्तेमाल कर विपक्ष की आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है।

ईडी को भाजपा का चुनाव प्रबंधन विभाग बताते हुए उन्होंने कहा कि ईडी के तहत 5,422 मामले हैं और इनमें से 5,310 मामले मोदी सरकार ने पिछले साल दर्ज किए हैं। उन्होंने प्रतिप्रश्न करते हुए कहा कि इससे क्या यह ऐसा नहीं लगता कि ईडी अब चुनाव प्रबंधन विभाग बन गया है?

अग्निपथ योजना के बारे में उन्होंने कहा कि सरकार को विपक्ष और अन्य संबद्ध पक्षों के साथ उचित परामर्श के बिना लागू की गई योजना को तुरंत वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस योजना पर पहले युवाओं से और संसद में चर्चा होनी चाहिए, फिर सरकार को इस पर अंतिम फैसला लेना चाहिए।

कांग्रेस नेता ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने पार्टी मुख्यालय को बैरक में बदल दिया है और सभी नेताओं को कार्यालय में प्रवेश करने की अनुमति देने से पहले कई जगहों पर दलील देने के लिए मजबूर किया जाता है। उन्होंने कहा कि अगर किसी पार्टी के महासचिव को कार्यालय पहुंचने के लिए पुलिस से अनुमति की आवश्यकता होती है, तो इसका मतलब है कि देश में कोई लोकतंत्र नहीं बचा है।