कोटा में बुजुर्ग दंपती को लूटने के प्रयास की सनसनीखेज वारदात का आरोपी अरेस्ट

कोटा। राजस्थान में कोटा पॉश इलाके तलवंडी में एक बुजुर्ग दंपत्ति को पिस्तौल दिखाकर दिनदहाड़े लूटने की कोशिश करने की सनसनीखेज वारदात के सिलसिले में पुलिस ने एक बदमाश को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल कर ली।

पुलिस महानिरीक्षक प्रसन्न कुमार खमेसरा ने आज पत्रकारों को बताया कि कोटा की पॉश कॉलोनी तलवंडी में रहने वाले एक सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी महेश शर्मा (63) ने गत एक सितम्बर को जवाहर नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि इसी दिन दोपहर करीब 11.45 बजे एक बैग और हाथ में रजिस्टर लिए एक युवक उनके आवास पर पहुंचा और घंटी बजाकर दरवाजा खुलने के बाद उनकी पत्नी से कोरोना वायरस से बचाव के लिए तीसरा टीका लगाने के बारे में पूछने लगा।

खमेसरा ने बताया कि जब महेश शर्मा की पत्नी घर के अंदर आई तो वह युवक भी पीछे-पीछे भीतर घुस आया और अचानक पिस्तौल निकालकर इस दंपति को धमकाया कि उसके चार-पांच साथियों ने मकान को घेर रखा है।

उन्होंने अचानक ही उस युवक का पिस्तौल वाला हाथ पकड़ कर मरोड़ दिया तो वह युवक घबरा गया और हाथ छुड़ा कर घर के बाहर भागने लगा। इस पर बुजुर्ग दंपती ने भी शोर मचाते हुए उसका पीछा किया लेकिन वह बाहर निकल कर गलियों में होकर गायब हो गया।

खमेसरा ने घटना को काफी गंभीरता से लिया और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) प्रवीण कुमार जैन के नेतृत्व में एक टीम गठित कर जांच शुरू की। लूट के इरादे से घर में घुसे बदमाश ने जिसे पिस्तौल बताकर इस दंपती को धमकाया था, वह असल में एयरगन थी। पुलिस की जांच में इस बदमाश के वारदात से पहले आसपास के इलाके की रेकी करने की बात सामने आई।

उन्होंने बताया कि आरोपी गजेंद्र सिंह किराड के पास काम धंधा नहीं था इसलिए उसने रुपए कमाने के लिए घरों में अकेले रहने वाले बुजुर्गों को धमका कर लूटने की योजना बनाई थी। इसके लिए उसने एयरगन खरीदी। उसने वारदात को अंजाम देने से पहले कोरोना वायरस के टीकाकरण के लिए सर्वे का बहाना किया ताकि किसी को उस पर शक नहीं हो। इस घटना के बाद तलवंडी इलाके में सनसनी फैल गई थी, लेकिन पुलिस की तत्परता से आरोपी धरा गया।