आजम खान और मेनका गांधी के चुनाव प्रचार पर आयोग ने लगाई रोक

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने विवादास्पद भाषणों के जरिये आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामलों में समाजवादी पार्टी के नेता और रामपुर से सपा के उम्मीदवार आजम खां और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी पर क्रमश: 72 तथा 48 घंटे के लिए चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है।

आयोग ने इन दोनों नेताओं को 16 अप्रेल को सुबह 10 बजे से उनके चुनाव प्रचार में भाग लेने, जनसभाएं करने, रोड शो आयोजित करने, मीडिया के सामने बयान देने और साक्षात्कार देने आदि पर रोक लगाई है।

उल्लेखनीय है कि आजम खां ने रविवार को अभिनेत्री और भारतीय जनता पार्टी की रामपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार जया प्रदा को लेकर बेहद शर्मनाक बयान दिया था जिसके बाद चारों तरफ उनकी आलोचना की जा रही थी तथा चुनाव आयोग से आजम पर सख्त कार्रवाई की मांग की गई थी। उनके अलावा केंद्रीय मंत्री और सुल्तानपुर से भाजपा प्रत्याशी मेनका ने भी कुछ दिनों पहले मुस्लिम समुदाय के उनको वोट देने को लेकर विवादास्पद बयान दिया था।

चुनाव आयोग ने आजम, मेनका के विवादास्पद बयानों पर संज्ञान देते हुए कार्रवाई की है। इससेे पहले चुनाव आयोग ने सोमवार सुबह ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती पर भी उनके विवादास्पद बयानों को लेकर क्रमश: 72 घंटे और 48 घंटे के लिए चुनाव प्रचार पर रोक लगाई थी।

योगी आदित्यनाथ और मायावती पर चुनाव प्रचार की रोक लगी