श्रीनगर हमला : सीआरपीएफ जवान शहीद, लश्कर ने ली जिम्मेदारी

Encounter between militants, security forces in Srinagar
Encounter between militants, security forces in Srinagar

श्रीनगर। श्रीनगर में सोमवार को सुरक्षा बल के एक संतरी ने मुस्तैदी का परिचय देते हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एक शिविर पर हमले की कोशिश को नाकाम कर दिया जिसके बाद एक इमारत में छिपे आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच जारी मुठभेड़ के दौरान अर्धसैनिक बल का एक जवान शहीद हो गया।

हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने ली है। आधिकारियों और स्थानीय निवासियों ने बताया कि करण नगर इलाके में जैसे ही अंधेरा हुआ, रुक-रुक कर तेज धमाके और स्वचालित गोलियों की गड़गड़ाहट सुनाई देने लगी।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा बल छिपे हुए आतंकवादियों के खिलाफ अंतिम हमले के लिए तैयार था, इसी दौरान एक जवान मुठभेड़ में गंभीर रूप से घायल हो गया।

उसे मुठभेड़ स्थल से करीब 300 मीटर दूर स्थित एसएमएचएस अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां बाद में उसने दम तोड़ दिया।

यह वही अस्पताल है जहां से लश्कर-ए-तैयबा का पाकिस्तानी आतंकवादी नवीद जाट उर्फ अबू हंजुल्ला छह फरवरी को दो पुलिकर्मियों की हत्या कर फरार होने में कामयाब रहा था।

पुलिस ने कहा कि सुरक्षा कारणों के चलते आसपास के इलाकों के घरों को खाली करा लिया गया है। इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

महमूद शाह नामक एक व्यक्ति ने स्थानीय समाचार एजेंसी को फोन कर खुद को लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य बताते हुए सीआरपीएफ की 23वीं बटालियन के मुख्यालय पर हमले की जिम्मेदारी ली।

आतंकवादियों के खिलाफ सीआरपीएफ और जम्मू एवं कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) के जवान अभियान चला रहे हैं।

जम्मू और कश्मीर पुलिस प्रमुख एस.पी. वैद ने ट्वीट कर कहा कि श्रीनगर के करण नगर में आत्मघाती हमला टालने के लिए मैं चौकस संतरी को बधाई देता हूं। सौभाग्य से दो आतंकवादी घेराबंदी में हैं और मुठभेड़ जारी है।

इससे पहले तड़के 4.30 बजे करण नगर इलाके में सीआरपीएफ के 23वें बटालियन की निगरानी चौकी पर एक चौकस संतरी ने दो आतंकवादियों को देखा। संतरी द्वारा गोलियां चलाए जाने पर दोनों भागने पर मजबूर हो गए।

इलाके में की गई खोजबीन से खुलासा हुआ कि बैग और एके-47 राइफल लिए आतंकवादी सीआरपीएफ शिविर के पास स्थित एक इमारत में छिप गए, जिसे घेर लिया गया।

छिपे हुए आतंकवादियों को जब चुनौती दी गई तो वे सुरक्षा बलों पर गोलीबारी करने लगे, जिसमें सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया और एसओजी का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। मुठभेड़ अभी तक जारी है।

दो दिन पहले जम्मू के संजवान सैन्य शिविर में आतंकवादी हमला होने के बाद आज सीआरपीएफ शिविर पर हमला करने की कोशिश की गई। सुंजवान हमले में पांच जवान शहीद हो गए थे और एक स्थानीय नागरिक की मौत हो गई थी। इस दौरान कम से कम तीन आतंकवादी मारे गए थे।

देश से जुडी और अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

VIDEO राशिफल 2018 पूरे वर्ष का राशिफल एक साथ || ग्रह नक्षत्रों का बारह राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो