इंग्लैंड ने रोका भारत का विजय रथ, तीन मैचों की सीरीज 2-1 से जीती

England beat India by 8 wickets, win series 2-1
England beat India by 8 wickets, win series 2-1

लीड्स। लेग स्पिनर आदिल राशिद (49 रन पर तीन विकेट) की बेहतरीन गेंदबाजी के बाद जो रुट (नाबाद 100)और कप्तान इयोन मोर्गन (नाबाद 88) के बीच तीसरे विकेट के लिए 186 रन की जबरदस्त साझेदारी की बदौलत इंग्लैंड ने भारत को तीसरे और निर्णायक वनडे में मंगलवार को आसानी से आठ विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से जीत ली।

इंग्लैंड ने पहला वनडे हारने के बाद शानदार वापसी की और अगले दो वनडे जीतकर सीरीज अपने नाम की। इंग्लैंड ने इस सीरीज जीत के साथ वनडे रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली और टीम इंडिया का लगातार नौ सीरीज जीतने का क्रम थाम लिया। इंग्लैंड ने वनडे सीरीज जीत से ट्वंटी 20 सीरीज में भारत से 1-2 से मिली हार का बदला भी चुका लिया।

भारत ने कप्तान विराट कोहली (71) के शानदार अर्धशतक और ओपनर शिखर धवन (44) तथा विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी (42) के उपयोगी योगदान से 50 ओवर में आठ विकेट पर 256 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया लेकिन रुट और मोर्गन की कमाल की बल्लेबाजी से इंग्लैंड ने 44.3 ओवर में दो विकेट पर 260 रन बनाकर मैच जीत लिया। दोनों टीमें अब एक अगस्त से पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेंगी।

भारतीय गेंदबाज खास तौर पर चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर वैसा प्रभाव नहीं छोड़ पाए जैसा राशिद ने भारतीय बल्लेबाजों पर छोड़ा था। विराट को बोल्ड करने वाली राशिद की गेंद की तुलना शेन वार्न की बाल ऑफ द सेंचुरी से की जा सकती है।

ओपनर जेम्स विंस 27 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 27 रन बनाकर रन आउट हुए जबकि जॉनी बेयरस्टो ने 13 गेंदों में सात चौके उड़ाते हुए 30 रन ठोके। बेयरस्टो को शार्दुल ठाकुर ने आउट किया।इंग्लैंड ने 74 रन तक दो विकेट गंवाए लेकिन इसके बाद रुट और मोर्गन ने भारतीय गेंदबाजों को कोई मौका नहीं दिया। भारतीय फील्डरों का प्रदर्शन भी खराब रहा और उन्होंने उदारता से कैच भी टपकाए।

रुट ने 120 गेंदों में 10 चौकों की मदद से नाबाद 100 और मोर्गन ने 108 गेंदों में नौ चौकों और एक छक्के के सहारे नाबाद 88 रन बनाये। दोनों ने 35.2 ओवर में 186 रन की अविजित साझेदारी की। भारत की तरफ से चहल 10 ओवर में 41 और कुलदीप 10 ओवर में 55 रन देकर कोई विकेट नहीं ले पाए। ठाकुर ने 48 रन पर एक विकेट लिया।

इससे पहले विराट ने वनडे सीरीज का अपना दूसरा अर्धशतक बनाया लेकिन वह ऐसे महत्वपूर्ण मोड़ पर लेग स्पिनर आदिल राशिद की बेहतरीन गेंद पर बोल्ड हुए जब भारतीय टीम को उनसे आखिरी ओवर तक टिके रहने की जरूरत थी। विराट ने 72 गेंदों पर 71 रन की पारी में आठ चौके लगाए।

शिखर ने एक बार फिर अच्छी शुरुआत की लेकिन उसे बड़े स्कोर में नहीं बदल पाए। शिखर 49 गेंदों में सात चौकों की मदद से 44 रन बनाकर बेन स्टोक्स के थ्रो पर रन आउट हो गए। पिछले मैच में धीमी बल्लेबाजी के कारण आलोचना झेलने वाले पूर्व कप्तान धोनी ने 66 गेंदों में चार चौकों के सहारे 42 रन का योगदान दिया।

आलराउंडर हार्दिक पांड्या ने 21 गेंदों में दो चौकों की मदद से 21 रन बनाये। भारतीय पारी को आखिरी ओवरों में भुवनेश्वर कुमार और शार्दुल ठाकुर ने गति दी जिससे भारत 256 रन के लड़ने लायक स्कोर तक पहुंच सका।

भुवनेश्वर 35 गेंदों में एक चौके के सहारे 21 रन बनाकर पारी की आखिरी गेंद पर आउट हुए जबकि ठाकुर 13 गेंदों में दो छक्कों की मदद से 22 रन बनाकर नाबाद रहे। ठाकुर ने 49वें ओवर में बेन स्टोक्स की पहली और पांचवीं गेंद पर छक्के मारकर भारत को 250 के पार पहुंचाया। इस ओवर में 17 रन पड़े और यह ओवर भारत की उम्मीदों के लिए बेशकीमती साबित हुआ वरना भारत ने 46वें ओवर तक अपने सात विकेट 221 के स्कोर पर गंवा दिए थे।

भुवनेश्वर और ठाकुर ने आठवें विकेट के लिए 4.1 ओवर में 35 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की। आखिरी ट्वंटी 20 और पहले वनडे में लगातार दो शतक बनाने वाले ओपनर रोहित शर्मा लगातार दूसरे मैच में सस्ते में आउट हुए। भारतीय मध्यक्रम ने एक बार फिर निराश किया। लोकेश राहुल की जगह लाये गए दिनेश कार्तिक 22 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 21 रन बनाने के बाद राशिद की गेंद पर बोल्ड हो गए।

सुरेश रैना ने मात्र एक रन पर आउट होकर वनडे टीम में अपनी जगह पुख्ता करने का मौका गंवाया। रैना का विकेट भी राशिद ने लिया। डेविड विली ने रोहित, धोनी और भुवनेश्वर को आउट किया। विली ने 40 रन पर तीन विकेट और राशिद ने 49 रन पर तीन विकेट लिए।