जोस बटलर और बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड को संभाला

England vs West Indies: Ben Stokes and Jos Buttler lift their team to 321-4 on opening day of the final test

ग्रोस आइलेट। जोस बटलर (नाबाद 67) और बेन स्टोक्स (नाबाद 62) की शानदार अर्धशतकीय पारियों की बदौलत इंग्लैंड ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच में पहले दिन शनिवार को चार विकेट के नुकसान पर 231 रन बना लिए।

सेंट लूसिया के डेरेन सैमी नेश्नल स्टेडियम में इंग्लैंड की पारी लड़खड़ाने के बाद संभल गई। टॉस जीतकर वेस्ट इंडीज ने पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया था। इंग्लैंड ने चार विकेट 107 रन पर गंवाने के बाद बटलर और स्टोक्स के दम पर वापसी करते हुए दिन की समाप्ति तक अपना स्कोर सम्मानजनक कर लिया।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की टीम को पहला झटका सलामी बल्लेबाज कीटन जेनिंग्स के रुप में लगा। जेनिंग्स आठ रन के स्कोर पर कीमो पॉल की गेंद पर डैरेन ब्रावो को कैच थमा बैठे। इसके बाद रोरी बर्न्स को भी पॉल ने 29 रन के स्कोर पर पगबाधा कर पवेलियन भेज दिया।

69 रन पर दो झटके लगने के बाद मेहमान टीम को तीसरा झटका जो डेनली के रुप में लगा। उन्हें शैनन गेब्रियल ने पगबाधा कर आउट किया। उन्होंने 50 गेंदों में दो चौकों की मदद से 20 रन बनाए। कप्तान जो रूट भी सस्ते में आउट हो गए। 54 गेंदों में दो चौकों की मदद से 15 रन बनाने वाले रुट को अल्जारी जोसफ ने डावरिच के हाथों कैच कराकर उनकी पारी का अंत कर दिया।

चार झटकों के बाद बटलर और स्टोक्स की जोड़ी ने सधी हुई पारी खेलकर इंग्लैंड की टीम को संभाला। बटलर पहले दिन का खेल खत्म होने तक 123 गेंदों में नौ चौकों की मदद से 67 रन और स्टोक्स 130 गेंदों में छह चौकों की मदद से 62 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं।

वेस्ट इंडीज की तरफ से कीमो पॉल ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 16 ओवर में 42 रन देकर दो विकेट लिए। उनके अलावा शैनन गेब्रियल ने 19 ओवर में 44 रन देकर एक विकेट और अलजारी जोसफ ने 15 ओवर में 56 रन देकर एक विकेट लिया ।

कप्तान रोहित शर्मा ने 38, विजय शंकर ने 43, रिषभ पंत ने 28, हार्दिक पांड्या ने 21, दिनेश कार्तिक ने नाबाद 33 और क्रुणाल पांड्या ने नाबाद 26 रन बनाए लेकिन अंत में मंजिल दूर रह गई।

भारत ने बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए खराब शुरुआती की और ओपनर शिखर धवन को पहले ही ओवर में गंवा दिया। शिखर ने एक चौका लगाया और पांच रन बनाकर मिशेल सेंटनर का शिकार बन गए। शिखर का कैच डेरिल मिशेल ने लपका। भारत का पहला विकेट छह के स्कोर पर गिरा।

कप्तान रोहित (38) और शंकर (43) ने दूसरे विकेट के लिए 75 रन की बेहतरीन साझेदारी की। दोनों बल्लेबाजों ने कुछ लाजवाब शाट्स खेले। यह साझेदारी मेजबान टीम के लिए ज्यादा खतरनाक साबित होती कि उससे पहले सेंटनर ने शंकर को आउट कर भारत को 81 के स्कोर पर दूसरा झटका दे दिया। शंकर ने 28 गेंदों पर 43 रन की पारी में पांच चौके और दो छक्के लगाए।

मैदान पर उतरे युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत ने आते ही आक्रामक तेवर दिखाए और सेंटनर की दो गेंदों पर चौका और छक्का जड़ दिया। उन्होंने पारी के 10वें ओवर में लेग स्पिनर ईश सोढ़ी की दूसरी और छठी गेंदों पर छक्के मारे और मात्र छह गेंदों में 23 रन पर पहुंच गए। पंत को 13वें ओवर में ब्लेयर टिकनर ने आउट कर दिया। पंत ने 12 गेंदों पर 28 रन में एक चौका और तीन छक्के लगाए।

ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने अपनी पहली ही गेंद पर टिकनर पर छक्का जड़ दिया। उन्होंने अगले ओवर में डेरिल मिशेल पर चौका और छक्का लगाया लेकिन टिकनर ने इस ओवर की आखिरी गेंद पर भारतीय कप्तान रोहित को आउट कर दिया। रोहित ने लगभग वाइड बॉल पर बल्ला घुमाया और विकेटकीपर टिम सिफर्ट को कैच दे बैठे। रोहित ने 32 गेंदों पर 38 रन में तीन चौके लगाए।

रोहित के आउट होने के चार रन बाद ही पांड्या को स्कॉट कुगेलजिन ने आउट कर दिया। बड़ा शॉट मारने की कोशिश में पांड्या के हाथ से बल्ला छूट गया लेकिन केन विलियम्सन ने आसान कैच लपक लिया। महेंद्र सिंह धोनी डेरिल मिशेल पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में टिम साउदी को कैच थमा बैठे। धोनी ने दो रन बनाए। भारत ने चार रन के अंतराल में तीन विकेट गंवाए और उसका स्कोर छह विकेट पर 145 रन हो गया।

दिनेश कार्तिक ने मैदान पर आने के साथ ही दो छक्के उड़ाकर भारत को मुकाबले में बनाए रखा। क्रुणाल पांड्या ने 18वें ओवर में टिम साउदी पर 6,4,4 उड़ाकर मैच को रोमांचक बना दिया। भारत को आखिरी दो ओवर में 30 रन की जरुरत थी।

कार्तिक ने 19वें ओवर की तीसरी गेंद पर कुगेलजिन पर स्केवयर लेग के ऊपर से छक्का मारा। क्रुणाल ने इस ओवर की आखिरी गेंद पर सीधे छक्का मारा और अब भारत को अंतिम ओवर में 16 रन की जरुरत रह गयी। इस छक्के के साथ कार्तिक और क्रुणाल के बीच 50 रन की साझेदारी मात्र 22 गेंदों में पूरी हो गई।

टिम साउदी के पारी के 20वें ओवर की पहली गेंद पर कार्तिक ने दो रन लिए। अगली दो गेंदों पर कोई रन नहीं बना। चौथी गेंद पर एक रन बना और मैच भारत के हाथ से निकल गया। कार्तिक ने आखिरी गेंद पर छक्का जरुर लगाया लेकिन भारत को हार का सामना करना पड़ा। कार्तिक ने 16 गेंदों पर नाबाद 33 रन में चार छक्के उड़ाए जबकि क्रुणाल ने 13 गेंदों पर नाबाद 26 रन में दो चौके और दो छक्के लगाए। न्यूजीलैंड की तरफ से सेंटनर और मिशेल ने दो-दो विकेट लिए।

इससे पहले सलामी बल्लेबाज टिम सिफर्ट (43) और कॉलिन मुनरो (72) की तूफानी पारियों की बदौलत न्यूजीलैंड ने चार विकेट पर 212 रन का मजबूत स्कोर बना लिया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम ने धमाकेदार शुरुआत करते हुए भारतीय गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। मुनरो और सिफर्ट ने पहले विकेट के लिए 80 रनों की साझेदारी की।

मुनरो ने 40 गेंदों में पांच चौकों और पांच छक्कों की मदद से 72 रन और सिफर्ट ने 25 गेंदों में तीन चौकों और तीन छक्कों की मदद से 43 रन बनाए। इनके अलावा कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने 16 गेंदों में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 30 रन, कप्तान केन विलियम्सन ने 21 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 27 रन बनाए। डेरिल मिशेल 19 और रॉस टेलर 14 रन बनाकर नाबाद रहे।

भारत की तरफ से चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने चार ओवर में 26 देकर दो विकेट लिए। उनके अलावा भुवनेश्वर कुमार ने चार ओवर में 37 रन देकर एक विकेट, खलील अहमद ने चार ओवर में 47 रन देकर एक विकेट लिया। हार्दिक पांड्या ने चार ओवर में 44 रन और उनके भाई क्रुणाल पांड्या ने चार ओवर में 54 रन लुटाए। कॉलिन मुनरो को मैन ऑफ द मैच और टिम सिफर्ट को मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार मिला।